Wednesday, September 28, 2022

‘आप’ की आंच हम पर नहीं, गोपीनाथ मुंडे को जो दिखा वो कांग्रेस को क्यों नहीं… चर्चा में भविष्यवाणी

मुंबई: बीजेपी(BJP) ने उत्तर प्रदेश की लड़ाई जीत ली है। योगी और मोदी लहर की भी चर्चा है। इतना ही नहीं साल 2024 में मोदी और 2029 में योगी के आने की बात भविष्यवाणियां भी कही और सुनी जा रही हैं। हालांकि इन सबके के बीच चर्चा आम आदमी पार्टी की भी है। आप के संयोजक अरविंद केजरीवाल ने दस सालों में दिल्ली के बाद पंजाब पर भी कब्जा कर लिया है। दिल्ली से कांग्रेस को हटाने के बाद आप ने पंजाब से भी कांग्रेस को लगभग खत्म कर दिया है। केजरीवाल के उदय का नुकसान बीजेपी को नहीं हुआ लेकिन उन्होंने पंजाब में कांग्रेस पार्टी का किला ढहा दिया है। इस बात की भविष्यवाणी बीजेपी के पूर्व केंद्रीय मंत्री और दिवंगत नेता गोपीनाथ मुंडे ने बहुत पहले कर दी थी। एक निजी चैनल को दिए इंटरव्यू में उन्होंने यह बात कही थी। अब उनकी बातें चुनाव में सच साबित होती दिख रही हैं।

गोपीनाथ मुंडे ने क्या कहा था?
गोपीनाथ मुंडे ने कहा था कि आम आदमी पार्टी ने दिल्ली में तीन बार सरकार बनाई है। अन्ना हजारे ने मनमोहन सिंह सरकार के खिलाफ़ आंदोलन किया। भ्रष्टाचार के खिलाफ शुरू हुआ आंदोलन देखते- देखते पूरे देश में फैल गया। जिसकी वजह से दशकों पुरानी सत्ता कांग्रेस के हाथ से निकल गई और नरेंद्र मोदी का उदय हुआ। अभूतपूर्व बहुमत से मोदी देश के प्रधानमंत्री बने। अन्ना के आंदोलन से कई नेताओं ने जन्म लिया। जिनमें से एक थे अरविंद केजरीवाल। उस समय कांग्रेस के नेता चुनाव क्यों नहीं लड़ते कहकर चिढ़ाते थे। अब उसका उल्टा परिणाम हुआ है। केजरीवाल ने आम आदमी पार्टी की स्थापना की। इसके बाद दिल्ली के विधानसभा चुनाव घोषित हुए। केंद्र में मोदी हैं, इस वजह से लोगों को यह लगा कि दिल्ली विधानसभा में भी बीजेपी की सरकार आएगी। लेकिन दिल्ली वाले होशियार निकले और उन्होंने मोदी को केंद्र में रखा और दिल्ली की सत्ता केजरीवाल के हाथ में सौंप दी। शीला दीक्षित और कांग्रेस पार्टी को दिल्ली की सत्ता से हाथ धोना पड़ा। उसी समय यह चर्चा शुरू हुई थी कि केजरीवाल किसको निपटाएंगे?

लोगों को ऐसा लगता था कि..
उस समय लोगों की ऐसा लगता था कि केजरीवाल की वजह से बीजेपी को भी नुकसान होगा। इस बाबत पूछे गए एक प्रश्न के जवाब में मुंडे ने कहा था कि बीजेपी को इसका फायदा हुआ है। हमारी सोलह से बढ़कर 32 सीटें हो गई हैं। बीजेपी के वोटों में दोगुनी बढ़त हुई है। अब बीजेपी को आप से कोई परेशानी नहीं होगी। हालांकि इसका खामियाजा कांग्रेस को उठाना पड़ेगा। कांग्रेस जहां भी कमजोर होगी उसका फायदा आप को मिलेगा। आप बीजेपी को कमजोर नहीं कर पाएगी।

Source link

आपकी राय

क्या मायावती का यूपी चुनावों में हार के लिए मुस्लिम वोटों को जिम्मेदार ठहराना सही है?

View Results

Loading ... Loading ...

Get in Touch

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Related Articles

Latest Posts