Monday, September 26, 2022

‘लेडी सिंघम’ के नाम से मशहूर है ये आईपीएस ऑफिसर, इस महिला IPS के संघर्ष और सफलता की कहानी, यहाँ पढ़ें

देश में अलग -अलग क्षेत्र में कीर्तिमान स्थापित करने वाले व्यक्ति को एक पहचान के तौर पर जाना जाता है। लेकिन सरकार में अधिकारी अपनी कलम और अधिकारों की ताकत से भी जाना जाता है। पुलिस सेवा में अधिकारी बहुत बनते हैं, मगर जनता के बीच पहचान बहुत ही कम बना पाते हैं। आज हम ऐसी ही एक महिला आईपीएस अधिकारी की बात करने जा रहे हैं, जिन्होंने अपनी लेडी सिंघम के नाम से पहचान ही नहीं बनाई बल्कि अपराधियों के खिलाफ सख्ती के लिए मिशाल भी बन गई हैं।

प्रीति चंद्रा ने पहली ही कोशिश में यूपीएससी एग्जाम पास कर लिया था. अब वह एक धाकड़ पुलिस ऑफिसर के तौर पर जानी जाती हैं. उनकी जिंदगी अब उन सभी औरतों के लिए एक मिसाल है, जो छोटे शहर से होने के बाद भी सपनों की बड़ी उड़ान भरना चाहती हैं.

माँ का पूरा सपोर्ट

आईपीएस अधिकारी प्रीति चंद्रा अपने जीवन के बारे में बताती हैं, वह बताती हैं कि वह पत्रकार बनना चाहती थी। साथ ही इसके बाद वह शिक्षिका भी बनी, लेकिन उनके नसीब में आईपीएस अधिकारी बनना लिखा था। वह बताती हैं कि कोई भी काम छोटा या बड़ा नहीं होता, बस उस काम को पूरी लगन और ईमानदारी के साथ करना चाहिए। आईपीएस बनने के पीछे वह बताती हैं कि उनकी मां ने उन्हें हमेशा सपोर्ट किया।उनकी मां खुद पढ़ी-लिखी नहीं है लेकिन माँ ने प्रीति चंद्रा और उनके भाई बहनों को पढ़ाया। वह बताती हैं कि जब वह कॉलेज में हुई तो रिश्तेदारों ने शादी के लिए लड़को के रिश्ते भेजने शुरू कर दिए। लेकिन मां ने उन सभी को मना कर दिया और बच्चों को पढ़ाई करने के लिए प्रोत्साहित किया।

महिलाएं उठाए सच की आवाज

वही प्रीति कानून पर बताती हैं कि हमेशा से महिलाओं के कानून के लिए आवाजें उठती रहती हैं। हालांकि महिलाओं के लिए पर्याप्त कानून है, लेकिन आज के समय में इसका दुरुपयोग हो रहा है। इससे कानून कमजोर होते जा रहे हैं और इससे जिनके लिए वह कानून बने है वह भी कमजोर होती जा रही है। ऐसे झू ठे मामले लोग दर्ज करवा देते हैं जिससे जांच टीम भी जांच में ढील कर देती है। इन सब चीज़ों से ही कानून का दुरुपयोग होता है। सच्चे मामले झूठ के नीचे दब जाते हैं। इसलिए महिलाओं को अपने लिए सच्ची आवाज उठानी चाहिए।प्रीति चंद्रा के बारे में बताएं तो आईपीएस अधिकारी प्रीति चंद्रा तेजतर्रार और ईमानदार अफसर है। वह पिछड़े इलाकों में भी ग्राउंड पर उतर कर लोगों की समस्याएं सुनती है और उनकी समस्याओं को पूरी करने का हर संभव प्रयास करती है। राजस्थान की ही रहने वाली इस बेटी ने अपने परिवार का सीना गर्व से चौड़ा कर दिया, जो मां खुद नहीं पढ़ पाई उसने अपनी बेटी को पढ़ा लिखा कर आईपीएस अधिकारी बना दिया।प्रीति चंद्रा की कहानी से उनके जीवन से हम सभी को प्रेरणा लेनी चाहिए और मन में विश्वास करना चाहिए कि हम भी मेहनत करके किसी ऊंचे पद या किसी अच्छी नौकरी को हासिल करें।

बीकानेर की पहली महिला एसपी

राजस्थान के सीकर की प्रीति चंद्रा अब बीकानेर की एसपी बन चुकी हैं. इसी के साथ वह बीकानेर की पहली महिला एसपी भी बन गई हैं. वह अपने अच्छे कामों और लेडी सिंघम वाली इमेज की वजह से अक्सर सुर्खियों में रहती हैं. चोर, डाकू और डकैत उनके नाम से ही कांपते हैं. उनका खौफ ऐसा है कि कई अपराधी सरेंडर कर चुके हैं. वह मानव तस्करी करने वाले कई गैंग्स का पर्दा भी फाश कर चुकी हैं. उन्होंने पहली ही कोशिश में यूपीएससी एग्जाम पास कर लिया था.

बीकानेर के कुंदन गांव में जन्म

प्रीति का जन्म सीकर जिले के कुंदन गांव में सन् 1979 में हुआ था. प्रीति चंद्रा आईपीएस ऑफिसर बनने से पहले एक स्कूल टीचर थीं. इससे पहले वह एक पत्रकार बनना चाहती थीं, लेकिन एम.फिल पूरी करने के बाद उन्होंने स्कूल में पढ़ाना शुरू कर दिया.

पहली ही बार में यूपीएससी किया पास

प्रीति चंद्रा ने प्रशासनिक सेवा से जुड़ने के लिए कड़ी मेहनत की और सन् 2008 में यूपीएससी परीक्षा पहली ही बार में पास कर ली. बिना कोचिंग के वह आईपीएस ऑफिसर बन गईं.

जयपुर मेट्रो में भी दी सेवा

प्रीति चंद्रा की सबसे पहले पोस्टिंग राजस्थान के अलवर में हुई थी. आईपीएस ऑफिसर बनने के बाद वह एसएसपी बनीं. उन्होंने बूंदी और कोटा में बतौर एसपी सेवाएं दीं. फिलहाल वह बीकानेर में एसपी हैं. इसके अलावा वह जयपुर मेट्रो कॉरपोरेशन में डिप्टी कमिश्नर ऑफ पुलिस के तौर पर भी सेवाएं दे चुकी हैं.

और बन गईं लेडी सिंघम

बूंदी में एसपी रहने के दौरान प्रीति चंद्रा ने मानव तस्करी करने वाले एक गैंग का पर्दाफाश किया था. उन्होंने कई नाबालिग लड़कियों को इस घिनौने जाल से मुक्त कराया था. इसके बाद से अपराधी उनके नाम से ही खौफ खाने लगे थे और उन्हें लेडी सिंघम कहा जाने लगा.

आपकी राय

क्या मायावती का यूपी चुनावों में हार के लिए मुस्लिम वोटों को जिम्मेदार ठहराना सही है?

View Results

Loading ... Loading ...

Get in Touch

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Related Articles

Latest Posts