Wednesday, September 28, 2022

IAS अशोक खेमका का 30 साल में 54वां ट्रांसफर, फिर भी ना कभी डरे ना झुके , जानिए अब तक का सफर

हरियाणा कैडर के वरिष्ठ IAS अधिकारी अशोक खेमका (Ashok Khemka Transfer) का 53वीं बार तबादला कर दिया गया है। हरियाणा सरकार ने 1991 बैच के वरिष्ठ नौकरशाह अशोक खेमका को इस बार अभिलेख, पुरातत्व एवं संग्रहालय विभागों का प्रधान सचिव बनाया है।

जानकारी के लिए बता दें कि इससे पहले इसी साल मार्च में खेमका (Ashok Khemka) का ट्रांसफर करते हुए उन्हें विज्ञान और प्रौद्योगिकी विभाग का प्रधान सचिव नियुक्त किया गया था । खेमका के करीब 27 साल के करियर में 53वीं बार तबादले पर अशोक खेमका का दर्द छलक पड़ा । उन्होने ट्विटर के माध्यम से अपना दर्द बयां किया। ”फिर तबादला लौट कर फिर वहीं। कल संविधान दिवस मनाया गया। आज सर्वोच्च न्यायालय के आदेश एवं नियमों को एक बार और तोड़ा गया। कुछ प्रसन्न होंगे। अंतिम ठिकाने जो लगा , ईमानदारी का ईनाम जलालत।”

बीज विकास घोटाला पकड़ा

खेमका का तबादला जिस भी विभाग में होता है। वहां पर घोटाले पकड़ ही लेते हैं। पूर्व हुड्डा सरकार में उन्हें बीज विकास निगम में घोटाला पकड़ा, 2012 में अरावली क्षेत्र में फरीदाबाद के कोट गांव में 3100 एकड़ जमीन की चकबंदी रोकी व रॉबर्ट वाड्रा से जुड़ी कंपनी की डीएलएफ के साथ डील को रद्द कर दिया। इससे बवाल मच गया और खेमका खुड्डेलाइन कर दिए गए।

हुड्डा सरकार के 10 साल में खेमका को 22 तबादलों का सामना करना पड़ा। भाजपा सरकार में खेमका ने समाज कल्याण विभाग में गड़बड़ी पाए जाने पर तीन लाख पेंशनर्स की पेंशन रोकी। खेल विभाग में अनेक अनियमितताएं उजागर की । इससे वह भाजपा सरकार के निशाने पर आ गए । अपनी एसीआर के नंबर को लेकर वह सीधा सरकार तक से टकरा चुके हैं।

कृषि कानूनों को लेकर सुझाए थे उपाय

खेमका ने कृषि कानूनों को लेकर किसानों और केंद्र सरकार के बीच गतिरोध लंबा खिंचने के बीच समाधान के कई उपाय भी सुझाए थे। खेमका ने कहा कि केंद्र सरकार द्वारा दिए जाने वाले न्यूनतम समर्थन मूल्य (MSP) का लाभ सभी राज्यों के बीच बराबर बंटवारा किया जा सकता है। बाकी का बोझ राज्य सरकारों को वहन करना चाहिए। राज्यों को अपनी जरूरत और क्षमता के अनुसार किसानों को विभिन्न फसलों पर एमएसपी की गारंटी देनी चाहिए। न्यूनतम समर्थन मूल्य (MSP) का विकेंद्रीकरण ही बेहतर है।

आपकी राय

क्या मायावती का यूपी चुनावों में हार के लिए मुस्लिम वोटों को जिम्मेदार ठहराना सही है?

View Results

Loading ... Loading ...

Get in Touch

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Related Articles

Latest Posts