Monday, September 26, 2022

Alwar News : ग्रामीणों ने बेटियों को उच्च शिक्षा तक पढ़ाने का लिया संकल्प , स्कूल में बढ़ने लगा है बेटियों का नामांकन

Alwar News । अलवर जिले के गोविंदगढ़ के अलवारा स्थित राजकीय हाई स्कूल में शिक्षकों ने भामाशाहों को प्रेरित कर स्कूल की तस्वीर बदल दी. मामला अलवर जिला मुख्यालय से 30 किलोमीटर दूर रामगढ़ पंचायत समिति के अलवारा गांव का है. जहां दसवीं के बाद बेटियों को पढ़ाने के लिए नहीं भेजने से स्कूल में नामांकन लगातार कम हो रहा था। इस चुनौती को हराकर एक शिक्षक ने सफलता की नई कहानी लिखी है।

शिक्षकों ने परिवारों को समझाया और स्थानीय भाषा में नारा दिया कि “बेटी बचाओ बेटी पढाओ” के नारे में कहा कि “साधियां कुढ़ियां वे मुंडेया कोलों घाट कोई नहीं” शिक्षक के इस नारे ने सरकारी स्कूल के विकास में मदद की जिससे भामाशाह और गांव के दानदाताओं ने स्कूल का रूप बदलदिया है।

अलावदा कस्बे स्थित शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय में जहां पहले बेटियों का नामांकन मात्र 85 रह गया था। अब गांव की 417 बेटियों का नामांकन विद्यालय में हो रहा है। इस दौरान मनाने के बाद 105 बेटियों को भी शिक्षा से जोड़ा गया है। इस छोटे से गांव में मुस्लिम समाज पहले अशिक्षा के अंधेरे में डूबा हुआ था। लेकिन शिक्षकों द्वारा पढ़ाई का महत्व बताए जाने के बाद कुछ परिवारों ने अपनी बेटियों और बेटों को निजी और सरकारी स्कूलों में भेजना शुरू कर दिया. अब सभी परिवारों के बच्चे स्कूल आने लगे हैं। खास बात यह है कि स्कूल में दाखिले के बाद सभी वर्ग के लोगों ने बेटियों को बेहतर शिक्षा दिलाने की बात कही. स्कूल के शिक्षक किशन सिंह सागर और सतपाल सिंह के प्रयासों की आसपास के क्षेत्रों में काफी सराहना हो रही है।

आपकी राय

क्या मायावती का यूपी चुनावों में हार के लिए मुस्लिम वोटों को जिम्मेदार ठहराना सही है?

View Results

Loading ... Loading ...

Get in Touch

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Related Articles

Latest Posts