Monday, September 26, 2022

डॉक्टर बेटी की गाजे-बाजे के साथ घोड़ी पर निकाली बिनौरी , पिता ने कहा – म्हारी छोरियां छोरो से कम है के

फिल्म दंगल का डायलोग ‘म्हारी छोरियां छोरों से कम है के…’ आजकल शेखावाटी में चरितार्थ हो रहा है।

शिक्षा के प्रचार व प्रसार के साथ समाज में अनेकों परिवर्तन आए हैं। मौजूदा दौर में स्त्री-पुरुष समानता को लेकर समाज की अवधारणाएं भी शिक्षा के व्यापक प्रसार से ही बदल पा रही हैं। पिलानी के राजपुरा में ऐसा ही एक सकारात्मक बदलाव से जुड़ा एक ऐसा ही उदाहरण देखने को मिला। वार्ड नं. 33 के रहवासी विद्या देवी व रिसाल सिंह सुनिया की सुपुत्री डॉ. सुनीता की बिन्दौरी गाजे-बाजे के साथ निकाली गई। इस दौरान परिवार के सभी लोग डीजे की धुन पर जमकर थिरके। इस अवसर पर प्रफुल्लित पिता रिसाल सिंह ने हरियाणवी लहजे में कहा “म्हारी छोरी छोरों से कम है कै”

डॉक्टर बिटिया की शादी अशोक पुत्र सुबेसिंह निवासी भोबिया के संग 27 अप्रैल को होनी है। अपनी बिन्दौरी को लेकर डॉ.सुनीता भी अभिभूत नजर आई। भावुक होते हुए लाडो ने कहा कि मेरे परिवार के लोगों को धन्यवाद देना चाहूंगी, जो उन्होंने मुझे इतना लाड़-प्यार दिया और सबके लिए एक मिसाल कायम की। बिन्दौरी की प्रेरणा वर पक्ष की ओर से दूल्हे के चाचा इंद्रसिंह मेघवाल द्वारा दी गई।

आपकी राय

क्या मायावती का यूपी चुनावों में हार के लिए मुस्लिम वोटों को जिम्मेदार ठहराना सही है?

View Results

Loading ... Loading ...

Get in Touch

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Related Articles

Latest Posts