Sunday, September 25, 2022

भाजपा सांसद ने पूर्वी राजस्थान में पानी को सियासी मुद्दा बनाया, 16 अप्रैल को दौसा में मटका फोड़ आंदोलन

दौसा जिले में पानी एक विकराल समस्या बनती जा रही है, हर कोई पानी को लेकर परेशान है तो अब राजनीतिक पार्टियां भी पानी को लेकर सियासत पर उतारु हैं। आगामी विधानसभा चुनाव में पूर्वी राजस्थान की ईआरसीपी योजना राजनीतिक पार्टियों के लिए यहां बड़ा मुद्दा बन सकती है। पिछले कई दिनों से पूर्वी राजस्थान नहर परियोजना को लेकर कांग्रेस व भाजपा आमने-सामने हैं।

एक और जहां कांग्रेस ईआरसीपी को राष्ट्रीय परियोजना घोषित हो इसके लिए पूर्वी राजस्थान के 13 जिलों में केंद्र सरकार के खिलाफ बड़ा आंदोलन खड़ा करने की तैयारी कर रही है तो वहीं दूसरी ओर भाजपाई इसे केवल वोटों की राजनीति बता रहे हैं। भाजपा नेताओं की मानें तो उनका कहना है देश में 70 साल कांग्रेस ने राज किया लेकिन कभी उन्हें जनता की याद नहीं आई, फिर आज उन्हें पानी की परेशानी क्यों सता रही है, यह महज एक राजनीति व जनता के साथ छलावा है। वहीं दूसरी और राज्यसभा सांसद डॉ किरोडी लाल मीणा ने 16 अप्रैल को दौसा जिला मुख्यालय पर पानी की मांग को लेकर आंदोलन का बिगुल फूंक दिया है।

13 जिलों के लोग बड़ा आंदोलन खड़ा करेंगे- मंत्री मुरारीलाल
दौसा विधायक व कृषि विपणन राज्यमंत्री मुरारी लाल मीणा का कहना है पूर्वी राजस्थान पहले हरा-भरा था, लेकिन अब रेगिस्तान बन गया और जो पश्चिमी राजस्थान जहां रेगिस्तान था वह हरा-भरा होता जा रहा है। ऐसे में पूर्वी राजस्थान की ईआरसीपी योजना को केंद्र सरकार राष्ट्रीय परियोजना घोषित करें, जिससे पूर्वी राजस्थान फिर से हरा-भरा हो सके। उन्होंने कहा अगर केंद्र सरकार ने समय रहते इस पर ध्यान नहीं दिया तो 13 जिलों के लोगों के साथ मिलकर एक बड़ा आंदोलन खड़ा करेंगे। मंत्री ने यह भी कहा हाल ही बजट में ईआरसीपी योजना के लिए राज्य सरकार ने 9600 करोड रुपए का प्रावधान रखा है, लेकिन यह योजना करीब 40 हजार करोड रुपए की है, ऐसे में इन पैसे से कुछ नहीं हो सकता।

दौसा में सांसद किरोड़ी लाल मीणा करेंगे आंदोलन

किरोड़ी बोले- कांग्रेस को 70 सालों में पानी की याद क्यों नहीं आई
भाजपा के राज्यसभा सांसद डॉ. किरोड़ीलाल मीणा का कहना है ईआरसीपी योजना का प्रस्ताव पूर्ववर्ती वसुंधरा सरकार ने बनाकर केंद्र को भेजा था, ऐसे में कांग्रेस बेवजह की राजनीति कर रही है। सांसद मीणा ने कहा कांग्रेस 70 सालों से राज कर रही है, तब उन्हें पानी की याद क्यों नहीं आई, अब विधानसभा चुनाव नजदीक है तो वोटों की सियासत करना जनता के साथ छलावा है। कांग्रेस जो ड्रामा कर रही है उसे राजस्थान की जनता सब जानती है और कांग्रेस वास्तव में ईआरसीपी को लेकर ईमानदारी से काम करना चाहती है तो मैं सीएम से कहना चाहता हूं आप खुद मेरे साथ चलें, आपके विधायक, सांसद, मंत्री साथ ही पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह भी राजस्थान से राज्यसभा के सदस्य हैं, ऐसे में उन्हें भी साथ ले ले और मैं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पास चलूंगा और उनसे आग्रह करूंगा।

ओछी राजनीति कर रही है कांग्रेस
सांसद डॉ. किरोड़ीलाल ने कहा कांग्रेस प्रधानमंत्री के बयानों को लेकर जो राजनीति कर रही है, ऐसी ओछी राजनीति प्रधानमंत्री को पसंद नहीं है। किरोड़ी ने कहा उन्होंने स्पष्ट रूप से राष्ट्रीय परियोजना घोषित करने को लेकर कुछ नहीं कहा था, हां लेकिन उन्होंने यह जरूर कहा था कि कुछ तकनीकी रूप से इसका परीक्षण करवाएंगे और प्रधानमंत्री बड़ी ईमानदारी के साथ इसका तकनीकी परीक्षण करवा भी रहे हैं। प्रधानमंत्री दयालु हैं और गरीब व किसान हित की बात करते हैं। हम सब उनके पास चलेंगे और गुहार लगाएंगे तो मुझे उम्मीद है वह इस मांग को पूरा कर देंगे।

16 अप्रैल किरोड़ी के नेतृत्व में मटका फोड़ आंदोलन
दौसा जिले की विकराल रूप धारण करती पेयजल समस्या को लेकर अब सांसद किरोडीलाल मीणा ने भी राज्य सरकार के खिलाफ बिगुल बजाने का आहवान कर दिया है। डॉ. किरोड़ीलाल ने हाल ही में पीएचईडी मंत्री महेश जोशी से मुलाकात कर दौसा जिले की पानी की समस्या का 15 अप्रैल तक निदान नहीं करने पर 16 अप्रैल से बड़ा आंदोलन करने की चेतावनी दी थी। ऐसे 16 अप्रैल को जिला मुख्यालय पर सांसद किरोडी लाल मीणा के नेतृत्व में मटका फोड़ आंदोलन किया जाएगा, इसे लेकर रणनीति तैयार की जा रही है।

यह भी पढ़े

कभी पत्नी से लिए थे पैसे उधार, आज खड़ी कर दी अरबों की कंपनी ‘इंफोसिस’

आपकी राय

क्या मायावती का यूपी चुनावों में हार के लिए मुस्लिम वोटों को जिम्मेदार ठहराना सही है?

View Results

Loading ... Loading ...

Get in Touch

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Related Articles

Latest Posts