Wednesday, September 28, 2022

6-12 साल के बच्चों को कोरोना वैक्सीन की खुराक, DCGI से इन टीकों को मिली मंजूरी

Coronavaccine for Children : अब 6 -12 साल के बच्चों को कोरोना वैक्सीन की डोज दी जाएगी। ड्रग कंट्रोलर जनरल आफ इंडिया ( DCGI) ने मंगलवार को इसकी मंजूरी दे दी। इसके तहत 6 -12 साल के बच्चों को बायोलाजिकल ई की कार्बेवैक्स व 6-12 साल के बच्चों को भारत बायोटेक की कोवैक्सीन की डोज दी जाएगी। वहीं 12 साल से अधिक उम्र के किशोरों को जायडस कैडिला की कोरोना वैक्सीन जायकोव डी के दो डोज दिए जाएंगे। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया ने ट्वीट कर यह अहम जानकारी दी ।
फिलहाल 12-14 साल के बच्चों को कॉर्बेवैक्स वैक्सीन दी जा रही है। 15-17 साल के बच्चों को कोवैक्सिन का डोज दिया जा रहा है। आज मिली मंजूरी के बाद देश में 6 से 12 साल और उससे अधिक उम्र के बच्चों को कुल 3 कोरोना वैक्सीन लगाई जाएंगी।

कॉर्बेवैक्स को अप्रूवल का इंतजार

DCGI की सब्जेक्ट एक्सपर्ट कमेटी (SEC) ने पिछले दिनों 5 से 11 साल के बच्चों पर कॉर्बेवैक्स वैक्सीन के इमरजेंसी इस्तेमाल की सिफारिश की थी। पैनल ने इस मसले पर बीते गुरुवार को बैठक की थी। कॉर्बेवैक्स हैदराबाद की कंपनी बायोलॉजिकल ई की ओर से स्वदेशी रूप से डेवलप की गई पहली आरबीडी प्रोटीन सब-यूनिट वैक्सीन है।

12 से 17 साल के कुल 12.66 करोड़ बच्चे वैक्सीनेटेड

देश में बच्चों को कोरोना वैक्सीन लगाने की शुरुआत इस साल 3 जनवरी से हुई थी। शुरुआत में 15 से 17 साल के बच्चों को कोवैक्सिन ही लगाई जा रही थी। बाद में 16 मार्च को 12 साल से अधिक उम्र के बच्चों के लिए वैक्सीनेशन शुरू किया गया।

हेल्थ मिनिस्ट्री के मुताबिक 12-14 साल ऐज ग्रुप के बच्चों के लिए कोरोना वैक्सीनेशन 16 मार्च 2022 को शुरू किया गया था। अब तक उन्हें 2.7 करोड़ (पहली डोज) और 37 लाख (दूसरी डोज) दी जा चुकी है। वहीं, 15-18 साल के ऐज ग्रुप के बच्चों को 5.82 करोड़ पहली डोज और 4.15 करोड़ दूसरी डोज लगाई जा चुकी है।
भारत के औषधि महानियंत्रक (डीसीजीआई) ने छह से 12 साल के बच्चों के लिए भारत बॉयोटेक की कोरोना टीके कोवैक्सीन के आपात इस्तेमाल की मंजूरी दे दी है। इस अनुमति के बाद देश में छह से 12 साल के बच्चों को कोरोना का टीका लग सकेगा। बता दें कि कोवैक्सीन को हैदराबाद स्थित भारत बायोटेक ने तैयार किया है।

आपकी राय

क्या मायावती का यूपी चुनावों में हार के लिए मुस्लिम वोटों को जिम्मेदार ठहराना सही है?

View Results

Loading ... Loading ...

Get in Touch

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Related Articles

Latest Posts