No menu items!
No menu items!
Monday, September 26, 2022
No menu items!

राजस्थान में बिजली के बिलों में रियायत शुरू, कम राशि के आने लगे बिल , पढ़ें पूरी खबर

Government Of Rajasthan: राजस्थान के एक करोड़ 20 लाख उपभोक्ताओं के बिजली बिलों में रियायत शुरू हो गई है। अप्रेल में उपभोक्ताओं को मिल रहे बिलों में यूनिट के हिसाब से अनुदान मिलने का सिलसिला शुरू हो चुका है और उपभोक्ताओं को पहली बार बिल देखकर खुशी महसूस हो रही है। बड़ी बात यह है कि जितनी यूनिट कम आएगी, उतना ही फायदा होगा। ऐसे में एक बिल में उपभोक्ता को अधिकतम 750 रुपए तक अनुदान मिल रहा है। राजधानी जयपुर में मार्च के विद्युत उपभोग के बिल बांटे जा रहे हैं और हर उपभोक्ता को यूनिट के हिसाब से अनुदान मिलने लगा है.

यूं मिला उपभोक्ता को अनुदान
जयपुर के मानसरोवर इलाके में 2 अप्रेल से बिल बांटने की प्रक्रिया शुरू की गई है। स्पाॅट बिलिंग के दौरान उपभोक्ताओं के मार्च में खर्च की गई बिजली का बिल दिया जा रहा है। एक उपभोक्ता को 162 यूनिट बिजली खर्च करने का बिल मिला है। जिसमें 474 रुपए का अनुदान दिया गया है।

कुल बिजली उपभोग की राशि पर नजर डालें तो 1441.42 रुपए का बिल बन रहा है लेकिन अनुदान के बाद अब उपभोक्ता को नियत तिथि तक 967 रुपए ही जमा कराने होंगे। बिल की कुल राशि का बंटवारा करें तो पता चलता है कि विद्युत शुल्क के 64.8 रुपए, नगरीय उपकर 24.3 रुपए, विद्युत खर्च 975.7 रुपए, स्थाई शुल्क 275 रुपए और फ्यूल सरचार्ज के पेटे 101.62 रुपए की राशि बनी है। कुल राशि में से सरकार की ओर से अनुदान के रूप में 474 रुपए कम किए गए हैं।

आने लगे हैं शून्य राशि के बिल
सरकार की ओर से अनुदान को लेकर बात करें तो अकेले जयपुर डिस्काॅम में 40 लाख घरेलू उपभोक्ताओं को लाभ देना शुरू कर दिया गया है। बड़ी बात यह है कि जयपुर डिस्काॅम क्षेत्र के 50 यूनिट तक विद्युत उपभोग करने वाले 21 लाख उपभोक्ताओं के बिल की राशि शून्य आने लगी है। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की बजट घोषणा से प्रदेश के एक करोड़ 20 लाख घरेलू बिजली उपभोक्ता लाभाविंत होंगे।

राज्य की जयपुर, जोधपुर और अजमेर डिस्काॅम में सरकार की इस घोषणा से करीब 80 लाख घरेलू विद्युत उपभोक्ताओं का बिजली बिल शून्य हो जाएगा। घरेलू विद्युत उपभोक्ताओं को 6 हजार करोड़ से भी अधिक की राहत मिलेगी। ऊर्जा विभाग के इस आदेश से सरकार करीब 6295 करोड़ रुपए का सालाना भार वहन करेगी।

इस तरह मिलना शुरू हुआ लाभ
अनुदान की बात करें तो 100 यूनिट तक का विद्युत उपभोग करने वाले बीपीएल, आस्था कार्डधारी, लघु घरेलू और सामान्य घरेलू विद्युत उपभोक्ताओं को 50 यूनिट तक बिजली निःशुल्क मिलने लगी है। 50 यूनिट तक बिजली उपभोग करने वाले सभी श्रेणी की घरेलू उपभोक्ताओं से विद्युत खर्च, फिक्स चार्जेंज, इलेक्ट्रीसिटी ड्यूटी, फ्यूल सरचार्ज आदि सब माफ हो रहे हैं।

साथ ही इनका बिजली बिल शून्य राशि का आना शुरू हो गया है। सभी घरेलू उपभोक्ताओं को 150 यूनिट तक बिजली खर्च पर 3 रुपए प्रति यूनिट का और 150 से 300 यूनिट तक बिजली उपभोग पर 2 रुपए प्रति यूनिट का बिजली खर्च पर अनुदान मिल रहा है। 300 यूनिट से अधिक विद्युत उपभोग करने वाले घरेलू उपभोक्ताओं को भी स्लेब के अनुसार छूट का लाभ दिया जा रहा है।

प्रदेश के घरेलू विद्युत उपभोक्ताओं को करीब 4626 करोड़ के विद्युत व्यय, 1475 करोड़ के फिक्स चार्ज और 194 करोड़ की इलेक्ट्रीसिटी ड्यूटी की राहत मिलेगी।

यह भी पढ़े

सीकर जिले में कुत्ते के मौत के बाद हिन्दू रीती ऋवष से कराया उसका अंतिम संस्कार, जागरण, हवन और मुंडन करवा दी अंतिम विदाई

आपकी राय

क्या मायावती का यूपी चुनावों में हार के लिए मुस्लिम वोटों को जिम्मेदार ठहराना सही है?

View Results

Loading ... Loading ...

Get in Touch

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Related Articles

Latest Posts