Saturday, October 1, 2022

REET पेपर लीक मामले में ED की धमाकेदार एन्ट्री, बड़े गिरेबानों तक पहुचेंगे हाथ ? अब बड़ी मछलियों की नहीं खैर !

REET Paper Leak Case: REET पेपर लीक मामले की जांच में अब ईडी की एंट्री हो गयी है. मामला पहले भी गंभीर था और अब जांच का दायरा ओर बढ़ता हुआ दिखाई दे रहा है. ऐसा हम इस लिए कह रहे है क्योंकि अब प्रवर्तन निदेशालय इस मामले की जांच करेंगा. जैसा की आपको पता है कि ईडी यानि की एनफोर्समेंट डायरेक्टरेट एक ऐसी केंद्रीय जांच एजेंसी है जो मनी लॉड्रिंग और फॉरेन एक्सचेंज मैनेजमेंट एक्ट यानि फेमा से जुड़े मामलों को देखती है. केंद्र के वित्त मंत्रालय के अधीन आने वाली ये जांच एजेंसी देश में आर्थिक कानूनों का पालन करवाने और आर्थिक अपराधों से निबटने का काम करती है.

REET मामले में अभी तक हुई गिरफ्तारियों और पूछताछ में ऐसी कई कड़ियां मिली है जो इस मामले में करोड़ों के लेनदेन से जुड़ी हैं जिसके बाद प्रिवेंशन ऑफ मनी लॉन्ड्रिंग एक्ट में मामला दर्ज हुआ है. आपको बता दें कि इस मामले में पहले ही एसओजी की जांच जारी है. जानकारी के मुताबिक अब जल्द ही ईडी सभी आरोपियों को समन जारी कर पूछताछ शुरू कर देगी. जिसमें कई बड़े नाम भी हो सकते हैं. 

अभी तक मामले में 40 लोगों की गिरफ्तारी हुई है और 11 जमानत पर बाहर है. मामले में आरोपी उदाराम और अन्य अभियुक्त से रामकृपाल को मिले 1 करोड़ 22 लाख रुपयों में से पूर्व में 71 लाख रुपए जब्त किए गए थे और 11 लाख रुपए कई बैंक खातों में फ्रीज़ करवाए गए थे. वहीं रामकृपाल ने जिन व्यक्तियों को रुपए दिये, उनसे 21 लाख 80 हजार रुपये की धनराशि और जब्त की गई है. अब तक मामले में 1 करोड़ 3 लाख 80 हजार की धनराशि बरामद की जा चुकी है

ED जांच में मीडिया रिपोर्ट्स और किरोड़ीलाल मीणा के दिये दस्तावेज की भी जांच
राजस्थान में आगामी विधानसभा चुनाव 2023 में रीट पेपर लीक का मुद्दा एक बड़ा मुद्दा हो सकता है. जिसको भुनाने में सड़क से लेकर सदन तक बीजेपी लगी है. वही बेरोजगारों का सड़कों पर प्रदर्शन और धरना लगातार होता रहा है. मामले में अब ईडी जल्द ही राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड से सस्पेंड अध्यक्ष डीपी जारौली और प्रदीप पाराशर से भी अब ईडी की टीम पूछताछ करेगी. वही मामले में मुख्य आरोपी रामकृपाल मीणा और भजनलाल समेत मामले के आरोपियों से भी पूछताछ होगी. REET पेपर लीक मामले में SOG की रिपोर्ट में जहां-जहां धन के लेनदेन और बरामदगी की रिपोर्ट चार्जशीट में है, उन सभी बिंदुओं पर ईडी राजस्थान के अधिकारी जांच करेंगे. इस पूरे मामले में ईडी मीडिया रिपोर्ट्स, डॉ किरोड़ीलाल मीणा के सौपें हुए दस्तावेज और पेन ड्राइव का भी अध्ययन कर रही है.

यह भी पढ़े

उदयपुर में नौ बेटे-बेटी और 20 पोते-पोतियों ने 80 साल के दादाजी की शादी कराई 60 साल लिव-इन में रहे थे

आपकी राय

क्या मायावती का यूपी चुनावों में हार के लिए मुस्लिम वोटों को जिम्मेदार ठहराना सही है?

View Results

Loading ... Loading ...

Get in Touch

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Related Articles

Latest Posts