Saturday, October 1, 2022

“पीएम मोदी से पहले भी एक बार तो राजस्थान में 21 सीटों पर रह गए थे” सचिन पायलट ने भाजपा पर साधा निशान

राजस्थान में सचिन पायलट ने एक बार पर फिर इशारों में गहलोत पर निशाना साधा है। सचिन पायलट ने कहा कि पीएम मोदी के आने से पहले भी राजस्थान में सरकार रिपीट नहीं होती थी। जयपुर में मीडिया से बात करते हुए पायलट ने कहा कि मैं बार-बार कह रहा हूं कि कांग्रेस पार्टी की सरकार किस प्रकार रिपीट हो। कारणों पर चर्चा होनी चाहिए। पायलट ने कहा कि जनता बहुमत देती है। लेकिन एक बार हम 50 पर रह गए। एक बार 21 पर आ गए। इन कारणों पर चर्चा होनी चाहिए। हम राजस्थान में सरकार रिपीट नहीं कर पाते हैं। हमारी सरकार दिल्ली में 3 बार रिपीट हुई। असम में 3 बार रिपीट हुई। आंध्रप्रदेश में 2 बार रिपीट हुई। ऐसा नहीं है कि कांग्रेस सरकार रिपीटी नहीं होती है। लेकिन रिपीट नहीं कर पा रहे हैं। मोदी जी के आने से पहले भी हम रिपीट नहीं कर पाते थे। उन कारणों पर हम चर्चा करेंगे। पायलट ने कहा कि मैंने एआईसीसी को जो सुझाव दिए है। उन पर पार्टी पर अमल कर रही है। मैं सोनिया गांधी को धन्यवाद करना चाहता हूं। मेरे विचारों को स्वीकार किया। समिति बनाई। उस कमेटी ने कुछ कदम भी उठाएं है।

2023 में कांग्रेस की सरकार बनेगी

सचिन पायलट ने कहा कि हम सही दिशा में सही कदम उठाकर आगे बढ़ेंगे। तभी हम राजस्थान में सरकार रिपीट कर पाएंगे। सभी की एकजटुता से मंशा है कि हम कांग्रेस की सरकार रिपीट करें। मुझे पूरा विश्वास है कि हम सही रास्ते पर चलेंगे। सही कदम उठाएंगे। पहले शायद कुछ कमियों रह गई हो। उन्हे दूर कर आगे बढ़ेंगे तो निश्चित तौर पर सरकार रिपीट होगी। जनता कांग्रेस के साथ है। नौजवान कांग्रेस के साथ है। बीजेपी ध्रुवीकरण करने की कितनी भी कोशिश कर ले। नौजवान, किसान और 36 कौम के लोग कांग्रेस के साथ रहेंगे और 2023 में कांग्रेस की सरकार बनेगी। आज हमारी दो दिवसीय कार्यशाला है। हम सब भाग लेंगे। चर्चा करेंगे।

कांग्रेस के तीनों प्रत्याशियों की जीत होगी 

पायलट ने कहा कि राज्यसभा चुनाव में कांग्रेस के तीनों प्रत्याशी चुनाव जीतेंगे। पायलट ने कहा कि लोग अटकलें लगाए। ख्याली पुलाव लगाए। आरोप लगाए। उंगलियां उठाए लेकिन हकीकत यह है कि सोनिया गांधी और राहुल गांधी ने जो निर्णय लिया है। उन पर हमकों खरा उतरना है। कांग्रेस की तीनों राज्यसभा उम्मीदवारों को जिताकर भेजना है। किसी को किसी प्रकार का कोई संशय नहीं होना चाहिए। जो लोग समझते हैं कि यहां कोई गुंजाइश है। उनकों समझना चाहिए। तीनों हमारे उम्मीदवार है। जीतकर जाएंगे। जितने ज्यादा वोट है। उनसे से ज्यादा वोट मिलेंगे। पायलट ने कहा कि बीटीपी या निर्दलीय विधायक कांग्रेस का समर्थन आज से नहीं कर रहे हैं। सभी 2018 से समर्थन कर रहे हैं। हम लोगों को सब पर भरोसा है। आप लोग विवाद पैदा करने की कोशिश न करें।

पायलट बोले- एनडीए में बिखराव हो रहा है 

सचिन पायलट ने भाजपा पर निशान साधते हुए कहा कि शिवसेना ने बीजेपी का साथ छोड़ दिया। अकाली दल ने बीजेपी का साथ छोड़ दिया। एनडीए का बिखराव हो रहा है। मीडिया में कुछ भी आता रहे लेकिन, एनडीए का जो गठबंधन था वह लगातार कमजोर होता जा रहा है। बीजेपी समर्थक पार्टियों की संख्या कम हो रही है। राजस्थान में हम मजबूती से काम कर रहे हैं। राजस्थान में हम मजबूती से काम कर रहे हैं। कांग्रेस के तीनों प्रत्याशी भारी बहुमत से जीतेंगे। भाजपा के साथी सोचते है कि कांग्रेस में सेंधमारी कर सकते हैं उनको भूल जाना चाहिए। क्योंकि सभी कांग्रेस के विधायक अपना वोट दिखाकर डालेंगे। यह राज्यसभा का नियम है। बेवजह का माहौल खराब करने का कोई फायदा नहीं है। 

राजस्थान में एक बार फिर तनाव का माहौल, हिंदुवादी कार्यकर्ता की सड़क पर पीट-पीटकर की हत्या

आपकी राय

क्या मायावती का यूपी चुनावों में हार के लिए मुस्लिम वोटों को जिम्मेदार ठहराना सही है?

View Results

Loading ... Loading ...

Get in Touch

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Related Articles

Latest Posts