सीकर का ऐसा गवर्नमेंट स्कूल जो सुविधाओं के मामले में प्राइवेट स्कूलों को देता है टक्कर, स्कूल में बायोमेट्रिक हाजिरी, 20 मिनट लेट हों तो परेंट्स को जाता है मैसेज

0
76

सीकर: उज्जीणसिंह का नाडा सरकारी स्कूल में इंग्लिश स्पीकिंग, डिबेट व किचन गार्डनिंग भी सिखाई जा रही राजकीय उच्च प्राथमिक विद्यालय उज्जीणसिंह का नाडा में स्टूडेंट्स काे डिबेट व किचन गार्डनिंग भी सिखाई जा रही सरकारी स्कूलाें में राेज बदलाव की कहानियां लिखी जा रही हैं। पिपराली ब्लॉक में ऐसा ही एक स्कूल है राजकीय उच्च प्राथमिक विद्यालय उज्जीणसिंह का नाडा।

यहां भामाशाहाें के सहयाेग से निजी स्कूल जैसी सुविधाएं जुटाई हैं। स्टूडेंट्स व स्टाफ की हाजिरी बायाेमेट्रिक मशीन से हाेती है। स्टूडेंट्स के 20 मिनट देर से पहुंचने पर अनुपस्थिति का मैसेज अभिभावकों के मोबाइल पर चला जाता है। स्कूल की लाइट्स, बिजली उपकरण एलेक्जा और गूगल असिस्टेंट के जरिए वाॅइस से कंट्राेल की जाती हैं। क्लास, बाउंड्री वाॅल, गैलरी पर वाॅल पेंटिंग बनाई गई हैं। एलईडी, प्राेजेक्टर से ऑनलाइन लाइव क्लास से पढ़ाया जा रहा है।

इंग्लिश स्पिकिंग का अभ्यास करवाते हैं। प्रार्थना सभा में रोज एक स्टूडेंट काे अंग्रेजी में भाषण और दाे बच्चाें की डिबेट करवाई जाती है। प्रधानाध्यापक राजकमल जाखड़ के अनुसार बच्चाें काे साइंस व मैथ्स जैसे विषयाें काे अलग-अलग प्रैक्टकल करवाकर पढ़ाते हैं, जिससे साइंस व नवाचाराें के प्रति रुचि बढ़ती है। मुख्य गेट पर मूवमेंट सेंसर लाइट लगा रखी है, जिससे पास से गुजरने पर भी सेंसर से लाइट तुरंत जल जाती है। 8वीं तक के इस स्कूल में साइंस काॅर्नर बनाया है। इसमें बच्चाें काे प्रायाेगिक कार्य करवाए जाते हैं। किचन गार्डन में औषधीय पाैधे लगे हैं।

सीसीटीवी और लाइब्रेरी… पेरेंट्स मीटिंग के दोरान बताते हैं रिपोर्ट कार्ड

स्कूल के लिए करीब दाे बीघा जमीन गांव के उज्जीणसिंह के बेटाें शंकरसिंह, गणेशसिंह व गिरवरसिंह शेखावत ने दान की है। ग्रामीणों और शिक्षकों के सहयोग से स्कूल परिसर में सीसीटीवी लगाए हैं। इन्हें वाई-फाई से जाेड़कर ऑनलाइन कर रखा है। इससे संस्था प्रधान कहीं से भी माेबाइल के जरिए हर क्लास को देख सकते हैं। लाइब्रेरी में पुस्तकों को एक कमरे में बंद करने की बजाय हर रूम में ताराें पर रखी हैं। ताकि स्टूडेंट्स पसंद के मुताबिक किताब वहीं पढ़ सकें।

यह भी पढ़े

बाड़मेर के आरटीआई कार्यकर्ता से मिले सांसद हनुमान बेनीवाल

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here