Sunday, September 25, 2022

सचिव उषा शर्मा ने राजस्थान में कलेक्टरों के लिए शुरू किया रैंकिंग सिस्टम, धरातल पर योजनाओं को लाने की पहल

सरकार की जनकल्याणकारी योजनाओं का लाभ जन जन तक पहुंचाने के लिए मुख्य सचिव उषा शर्मा ने कलक्टरों के लिए रैंकिग सिस्टम शुरू दिया है, जिसमें 13 विभागों की 26 योजनाओं को अभी शामिल किया गया है.

इसके तहत हर महीने विभिन्न फ्लेगशिप स्कीम्स की प्रोग्रेस के आधार पर एक रिपोर्ट जारी की जाएगी. जिससे की कलेक्टरों को उनकी प्रोग्रेस रिपोर्ट बताई जा सके. सरकार ने सभी कलक्टरों की मार्च तक की रिपोर्ट जारी की है. जिसके अनुसार निशुल्क दवा योजना में झुंझुनूं पहले पायदान पर हैं, वहीं सामाजिक सुरक्षा पेंशन के आवेदन निस्तारण में जयपुर जिला आखिरी पायदान पर बना हुआ है. बेरोजगारी भत्ते और इंटर्नशिप करवाने में टोंक पहले पायदान पर तो बूंदी आखिरी पायदान पर हैं. आंकड़ों में समझे पूरी रिपोर्ट-

शुद्ध के लिए युद्ध अभियान

– सभी जिलों ने अपना टारगेट पूरा किया

– सबसे ज्यादा सैंपल कलेक्ट करने वाले 5 जिले

– सैंपल लेने में सिरोही पहले नंबर पर, राजसमंद दूसरे नंबर पर और जयपुर 5 नंबर पर

– सैंपल कलेक्ट करने में पाली ने लक्ष्य हासिल किया लेकिन आखिरी पायदान पर, इसके बाद जैसलमेर

निरोगी राजस्थान
– स्वास्थ्य मित्रों के चयन और ट्रैनिंग की रिपोर्ट

– सभी जिलों ने लक्ष्य हासिल किया, 98.72 प्रतिशत लक्ष्य हासिल

– 7 जिलों को मिली 1 रैंक, जिसमें भीलवाड़ा, डूंगरपुर, कोटा, नागौर, प्रतापगढ़, राजसमंद, सिरोही

– आखिरी पायदान पर 5 जिले, जिसमें बांसवाड़ा, सवाईमाधोपुर, जोधपुर, जैसलमेर, बाड़मेर

मुख्यमंत्री निशुल्क दवा योजना
– निशुल्क दवा वितरण में झुंझुनूं पहले नंबर पर, बीकानेर दूसरे, हनुमानगढ़ तीसरे, भीलवाड़ा चौथे ओर गंगानगर पांचवें नंबर पर

– निशुल्क दवा वितरण में बाड़मेर आखिरी पायदान पर, चुरू, बारां भी आखिरी में

मुख्यमंत्री निशुल्क जांच योजना

– निशुल्क जांचें करने में जालौर पहले पायदान पर, जैसलमेर दूसरे, दौसा तीसरे नंबर पर

– झालावाड़ जिला आखिरी पायदान पर, बीकानेर, कोटा, जोधपुर, उदयपुर नें भी नहीं दिखाई रूचि

चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना
– परिवारों के नाम जोड़ने में जयपुर पहले पायदान पर, डूंगरपुर आखिरी पायदान पर

1 रुपए किलो गेंहू वितरण
– परिवारों को राशन वितरण में डूंगरपुर पहले नंबर पर, बांसवाड़ा दूसरे नंबर पर

– 93 प्रतिशत से नीचे राशन वितरण में सिरोही, सवाई माधोपुर, अलवर शामिल

महात्मा गांधी इंग्लिश मीडियम स्कूल में नामांकन

– सबसे ज्यादा नामांकन जयपुर में 11072 हुआ, दूसरे नंबर पर बाड़मेर में 5729 नामांकन

– सबसे कम नामांकन जैसलमेर में 408 हुआ

मुख्यमंत्री कन्यादान योजना

– बीकानेर और प्रतापगढ़ कन्यादान योजना में पहले नंबर पर, सभी आए आवेदनों का निस्तारण किया

– हनुमानगढ़ तीसरे और सवाईमाधोपुर चौथे नंबर पर

– मुख्यमंत्री कन्यादान योजना के आवेदनों के निस्तारण में जालौर आखिरी नंबर पर, वहीं भीलवाड़ा दूसरे नंबर पर

सामाजिक सुरक्षा पेंशन

– पेंशनों के आवेदन और उन्हें वेरिफाई कर 8 जिले पहले नंबर पर

– पाली, बीकानेर, अजमेर, कोटा, हनुमानगढ़, टोंक, करौली, डूंगरपुर पहले नंबर पर

– जयपुर कलक्टर 80.52 प्रतिशत आवेदनों को ही कर पाए वेरिफाई आखिरी पायदान पर पहुंचे

– चित्तौड़गढ़, बारां, सिरोही, प्रतापगढ़ भी आखिरी पायदान पर

पालनहार योजना

– 100 प्रतिशत आवेदनों का निस्तारण कर बूंदी जिला पहले पायदान पर, करौली दूसरे नंबर पर, हनुमानगढ़ और जालौर तीसरे नंबर पर

– आवेदनों के निस्तारण में बारां, चितौड़गढ़, भरतपुर, जयपुर आखिरी पायदान पर

सिलिकोसिस नीति 2019 के तहत लाभार्थी

– 100 प्रतिशत आवेदनों के निस्तारण के साथ 6 जिले पहले पायदान पर, बारां, बीकानेर, चूरू, झुंझुनूं, प्रतापगढ़, सीकर पहले पायदान पर

– आवेदनों के निस्तारण में डूंगरपुर सबसे फिसड्डी, उससे पहले टोंक, पाली, धौलपुर के भी यही हाल

कृषि प्रसंस्करण, कृषि व्यवसाय और कृषि निर्यात प्रोत्साहन योजना

– योजना के तहत आवेदन रिसिव करने, सब्सिडी, राशि वितरण में पाली पहले पायदान पर, हनुमानगढ़ दूसरे नंबर पर

– डूंगरपुर ने इसमें नहीं दिखाई रूचि, एक भी आवेदन सेंक्शन नहीं किया, आखिरी पायदान पर

आपकी राय

क्या मायावती का यूपी चुनावों में हार के लिए मुस्लिम वोटों को जिम्मेदार ठहराना सही है?

View Results

Loading ... Loading ...

Get in Touch

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Related Articles

Latest Posts