Saturday, October 1, 2022

CM गहलोत के सामने मंत्री हेमाराम चैधरी ने तेल कंपनियों को हड़काया, या तो इन्हें समझा लो, या हमे छुट्टी दे दो, हम निपट लेंगे

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की मौजूदगी में ही उनके काबिना मंत्री हेमाराम चैधरी ने तेल कंपनियों की धमका दिया। मंत्री ने यहां तक कह दिया कि यह कंपनी वाले उनकी नहीं सुनते हैं। उन्होने सीएम से कहा कि या तो आप उन्हें समझा दो, नहीं तो हमें छुट दे दों हमे इनसे निपट लेंगे। राजस्थान सरकार में वन एवं पयार्यवरण मंत्री हेमाराम चौधरी मुख्यमंत्री गहलोत के मौजूदगी में कांग्रेस के महंगाई मुक्त अभियान के तहत बाड़मेर में एक जनसभा को संबोधित कर रहे थे।

न एवं पर्यावरण मंत्री हेमाराम चौधरी ने कहा कि हम सबका सौभाग्य है कि यहां पर तेल, गैस व कोयला मिला है। रिफाइनरी जल्द ही शुरू होने वाली है। इतना सब कुछ होने के बाद बहुत सी कंपनियां आ गई हैं। बहुत काम भी हो रहा है। रिफाइनरी के लोग स्थानीय लोगों को रोजगार नहीं देते हैं। सब बाहर के लोगों को रोजगार देते हैं। हम तो प्रयास करके थक चुके हैं। यह जरा सी भी परवाह नहीं करते हैं। मंत्री ने अपनी पीड़ा बताते हुए कहा कि मुख्यमंत्री जी या तो आप इनको समझाओ या फिर हमें छुट़्टी दे दो। हम अपने आप इनसे निपट लेंगे।

पहले भी दे चुके हैं तेल कंपनियों के खिलाफ धरना

गौरतलब है कि बीते साल मई 2021 में हेमाराम चौधरी ने विधानसभा की सदस्यता से इस्तीफा दे दिया। हालांकि, उनका इस्तीफा स्वीकार नहीं किया गया था। उस समय भी विधानसभा से इस्तीफा देने के बाद हेमाराम चैधरी ने तेल कंपनियों के खिलाफ मोर्चा खोलते हुए धरना दिया था।

उसके बाद कंपनी के लोगों ने विधायक को उनके क्षेत्र में कई विकास कार्य करवाने और स्थानीय लोगों को रोजगार देने का लिखित आश्वासन दिया था, जिसके बाद चौधरी ने धरना खत्म किया था। अब चौधरी का आरोप है कि कंपनी वालों ने अपना वादा पूरा नहीं किया।

यह भी पढ़े

Rajasthan Weather Forecast : राजस्थान में गर्मी का सितम अप्रैल में ही टुटा इतने सालों का रिकॉर्ड, मौसम विभाग ने जारी किया अलर्ट

आपकी राय

क्या मायावती का यूपी चुनावों में हार के लिए मुस्लिम वोटों को जिम्मेदार ठहराना सही है?

View Results

Loading ... Loading ...

Get in Touch

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Related Articles

Latest Posts