No menu items!
No menu items!
Monday, September 26, 2022
No menu items!
No menu items!

पति ने कोर्ट से लगाई गुहार, कहा- पत्नी तवे और डंडे से बुरी तरह पीटती है

राजस्थान के अलवर जिले के भिवाड़ी में एक अजीबोगरीब और दिल को दहला देने वाला घरेलू हिंसा (Domestic violence) का सनसनीखेज प्रकरण सामने आया है. यहां रहने वाले एक स्कूल प्रिंसिपल ने अपनी पत्नी पर टॉर्चर करने का आरोप (wife accused of torture) लगाया है.

परेशान प्रिंसिपल का आरोप है कि उसकी पत्नी उसे तवे और डंडे से पिटती है. परेशान प्रिंसिपल ने सबूत एकत्र करने के लिये घर में सीसीटीवी कैमरे लगवाये. इन कैमरों में कैद हुये घटनाक्रम को देखकर आपके रोंगटे खडे हो जायेगे. प्रिंसिपल को उसकी पत्नी आये दिन पीट पीटकर कर घर से निकाल देती हैं. यही नहीं उसे मुकदमे में फंसाने की धमकी देकर ब्लैकमेल करती है. प्रताड़ित प्रिंसिपल ने अब कोर्ट से सुरक्षा की गुहार लगाई है. कोर्ट ने उसे सुरक्षा मुहैया कराने के आदेश दिये हैं.

अमूमन घरेलू हिंसा के केस महिलाओं की तरफ से सामने आते हैं. लेकिन भिवाड़ी में पुरुष घरेलू हिंसा का शिकार हो गया. घरेलू हिंसा का शिकार हुया व्यक्ति अजित सिंह यादव सरकारी स्कूल का प्रिंसिपल है. प्रिंसिपल ने हरियाणा के सोनीपत निवासी सुमन से लव मैरिज की थी. उसके बाद कुछ दिन तक तो जिंदगी सही चली थी. लेकिन धीरे-धीरे पत्नी के पति पर अत्याचार बढ़ने लग गये. परेशान प्रिंसिपल ने अब भिवाड़ी न्यायालय से अपनी सुरक्षा की मांग करते हुए न्याय की गुहार लगाई है.

सात साल पहले की थी लव मैरिज

अजीत सिंह यादव ने बताया कि उन्होंने करीब 7 साल पहले सोनीपत निवासी सुमन से लव मैरिज की थी. कुछ समय बाद सुमन के तेवर बदलते चले गए. इन दिनों तो स्थिति यह है कि वह आये दिन उसे अपनी मनमर्जी तरीके से टॉर्चर करती है. कभी क्रिकेट खेलने के बल्ले से तो कभी खाना बनाने के तवे से पीटती है. इनके अलावा भी घर में कोई भी सामान उसके हाथ आ जाता है तो उससे पीटने लगती है.

अजीत सिंह के जगह जगह लगी है चोटें

मारपीट इस हद तक हुई है कि अजीत सिंह के जगह जगह से चोटें लगी हुई हैं. अजीत यादव इतने दिन तक लोकलाज और शिक्षक के पेशे की गरिमा को ध्यान में रखते हुये इधर-उधर उपचार कराकर अपना समय गुजार रहे थे. लेकिन अब हदें पार हो जाने पर उन्होंने कोर्ट की शरण ली है. अजीत सिंह के एक बेटा भी है. सीसीटीवी फुटेज में दिखाई दे रहा है कि की सुमन अपने 8 वर्षीय बेटे के सामने ही अपने पति को बेरहमी से पीट रही है. अजीत ने घटना के फुटेज कोर्ट में पेश किये हैं.

पेशे की गरिमा को ध्यान में रखते हुये पत्नी पर कभी नहीं उठाया हाथ

इतना कुछ होने के बावजूद अजीत सिंह ने बताया कि उन्होंने कभी सुमन पर हाथ नहीं उठाया और कानून को हाथ में नहीं लिया. अजीत सिंह का कहना है कि वो एक अध्यापक है. अध्यापक अगर महिला पर हाथ उठाएं और कानून को हाथ में ले तो यह भारतीय संस्कृति और उनके ओहदे के खिलाफ है. अगर यह बात उनके छात्र-छात्राओं तक जाती तो उन पर क्या असर पड़ता. बस इसी गरिमा को बरकरार रखने के लिये बीते एक साल से घरेलू हिंसा झेलते हुए अजीत अपनी पत्नी से निर्मम तरीके से मार खा रहे हैं.

मानसिक रूप से बीमार हो चुका है अजीत

अजीत सिंह की वर्तमान में स्थिति यह हो चुकी है कि वह मानसिक रूप से इतना बीमार हो चुका है कि कुछ ही पलों में वह सब कुछ भूल जाता है. कोई भी काम या साथी स्टाफ तक का नाम भी भूल जाता है. लगभग 1 महीने से वह पिटाई के डर के मारे अपने घर नहीं गया है. इधर उधर छिपते छिपाते हुये अपना समय व्यतीत कर रहा है. अजीत सिंह का आरोप है कि उसकी पत्नी सुमन के इस पूरे घटनाक्रम को उसको अमेरिका में बैठा हुआ उसका भाई ऑपरेट करता है. वह जैसा भी कहता है सुमन उसी तरह का बर्ताव उनके साथ करती है.

पुलिस कर रही है पूरे मामले की जांच

भिवाड़ी के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक विपिन शर्मा ने बताया कि न्यायालय की तरफ से प्रिंसिपल को सुरक्षा दिए जाने के आदेश हो चुके हैं. पुलिस न्यायालय की ओर से पेश की गई रिपोर्ट की जांच कर रही है. आरोपी महिला को बयान के लिए बुलाया गया है. वह अभी तक पेश नहीं हुई है. जांच जारी है.

आपकी राय

क्या मायावती का यूपी चुनावों में हार के लिए मुस्लिम वोटों को जिम्मेदार ठहराना सही है?

View Results

Loading ... Loading ...

Get in Touch

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Related Articles

Latest Posts