Wednesday, September 28, 2022

भागीरथ चौधरी ने अशोक गेहलोत पर साधा निशाना कहा “कांग्रेस सरकार शासन चलाने में पूरी तरह से असफल”

अजमेर सांसद भागीरथ चौधरी देर शाम अरांई क्षेत्र में कार्यकर्ताओं से रूबरू हुए और लोगों की समस्याएं सुनीं और शीघ्र समाधान का आश्वासन दिया. सांसद चौधरी ने अरांई में एक निजी कार्यक्रम में शिरकत करने के बाद पत्रकारों से रूबरू होकर कांग्रेस सरकार पर निशाना साधा.

सांसद ने कहा कि कांग्रेस सरकार शासन चलाने में पूरी तरह से असफल साबित हो रही है. चाहे बिजली कटौती की बात हो, या शिक्षा की बात हो या फिर स्वास्थ्य की सब जगह समस्याएं बरकरार है. 

चौधरी ने कहा कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को बिजली के लिए कोयले का पहले ही पर्याप्त संग्रहण रखा होता तो ये नौबत नहीं आती.  वही चिकित्सा और स्वास्थ्य विभाग में रिक्त पदों पर निशाना साधते हुए सासंद ने कहा कि अस्पताल में पद खाली पड़े है. जिससे मरीजों को रैफर किया जा रहा है.

कई मरीज रास्ते में दम तोड़ चुके हैं वही स्टाफ की कमी से स्कूल में पढाई नहीं हो रही है । राज्य सरकार सड़क व पानी में भी केंद्र सरकार की योजनाओं में सहयोग नहीं कर रही जिससे आमजन के हितों का हनन हो रहा है। इस दौरान पूर्व मण्डल अध्यक्ष निर्मल कुमार भण्डिया सहित अन्य कार्यकर्ता मौजूद थे

सांसद भागीरथ चौधरी ने कहा कि कांग्रेस की जनविरोधी नीतियों से हर वर्ग दुखी है. चाहे व्यापारी हो या किसान या फिर विधार्थी हो या आमजन, सरकार द्वारा चलाई गई योजनाओं का कोई लाभ नहीं मिल पा रहा है.

गांवों में पानी की क्या स्थिति है सभी जानते हैं और बिजली कटौती ने तो बोर्ड परीक्षा हो या फिर शादी ब्याह या भीषण गर्मी में सभी बेहाल हैं. अस्पतालों में डाक्टर तो क्या नर्सिंग स्टॉफ तक पूरा नहीं है. तो बताओ कैसे आमजन को चिकित्सा सुविधाओं का फायदा मिलेगा.

सीएचए को नहीं हटाना चाहिए था 
सांसद भागीरथ चौधरी ने कहा कि संविदा पर सीएचए के रुप में तैनात जिन लोगों ने कोरोना काल के दौरान अपनी जान जोखिम में डाल कर लोगों और मरीजों की सेवा की. उनका हटा दिया गया .जब स्वार्थ था तब रख लिया और अब छुट्टी कर दी. यह उन संविदा कार्मिकों के साथ बहुत बड़ा धोखा है सरकार को सीएचए को अभी नहीं हटाना चाहिए था. क्योंकि अभी तक सरकार चिकित्सा व्यवस्था के क्षेत्र में अस्पताल में पूरे कर्मचारियों के पद नहीं भर पाई है और ग्रामीण क्षेत्रों में अस्पताल में एक दो कर्मचारियों के भरोसे ही लोगों की जिंदगी है.

यह भी पढ़े

केंद्रीय जलशक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने कहा- बिजली कटौती की जांच हो तो मिलेंगे लंबे भ्रष्टाचार के तंत्र

आपकी राय

क्या मायावती का यूपी चुनावों में हार के लिए मुस्लिम वोटों को जिम्मेदार ठहराना सही है?

View Results

Loading ... Loading ...

Get in Touch

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Related Articles

Latest Posts