Saturday, October 1, 2022

करौली हिंसा पर राजनीती तेज़, आज निकलेगी बीजेपी की न्याय यात्रा, कर्फ्यू की अवधि में भी 1 दिन का इज़ाफ़ा

करौली में कर्फ्यू की अवधि एक दिन और बढ़ा दी गई है. इसके साथ ही इसमें दी जाने वाली ढील की समय सीमा को आधा कर दिया गया है. जिला प्रशासन ने अब कर्फ्यू 14 अप्रेल को सुबह सात बजे तक के लिये बढ़ा दिया है. जिला कलेक्टर राजेंद्र सिंह शेखावत ने इसके आदेश जारी किये हैं. वहीं बुधवार को कर्फ्यू में ढील केवल 4 घंटे की दी जायेगी. सुबह 6 से 10 बजे तक ही कर्फ्यू में ढील रहेगी. इस दौरान चार घंटे तक सभी दुकानें खुल सकेंगी. नवसंवत्सर पर करौली में भी बाइक रैली पर हुये पथराव और भड़की हिंसा के बाद वहां कर्फ्यू लगाया गया था.

उसके बाद ही में हाल ही में इसमें ढील देने की शुरुआत की गई थी. लेकिन पुलिस प्रशासन को मिले फीडबैक के बाद इसकी समय सीमा को कम कर दिया गया है. मंगलवार को दिनभर कर्फ्यू में ढील दी गई थी. लेकिन जिला प्रशासन को मिले फीडबैक और बुधवार को करौली में आने वाली बीजेपी की न्याय यात्रा को देखते हुये ऐहतियात के तौर पर कर्फ्यू की अवधि बढ़ाकर ढीली की अवधि कम दी गई है.

उपद्रव की जांच के लिए गृह विभाग की टीम आयेगी करौली
दूसरी तरफ उपद्रव मामले की जांच के लिए गृह विभाग की जांच टीम करौली आयेगी. यह टीम 18 से 20 अप्रेल तक करौली में रहेगी. टीम अलग अलग लोगों से मिलकर सुनवाई कर पूरे घटनाक्रम की जांच करेगी. 18 अप्रेल को सरकारी अधिकारी, पुलिस अधिकारी और मौके पर तैनात सुरक्षाकर्मियों के बयान लिए जाएंगे. 19 अप्रेल को आमजन की सुनवाई की जायेगी और साक्ष्य एकत्र किये जायेंगे. 20 अप्रेल को जांच में आवश्यक अन्य पक्षों से साक्ष्य जुटाये जायेंगे.

करौली में आज आयेगी बीजेपी की न्याय यात्रा
करौली में भड़की हिंसा के बाद इस पर राजनीति भी जमकर हो रही है. बीजेपी और कांग्रेस दोनों ही पार्टियां अपने अपने प्रतिनिधिमंडल भेजकर मामले की जांच कर चुके हैं. उसके बाद आज बीजेपी की न्याय यात्रा करौली आयेगी. इसको लेकर पुलिस प्रशासन पूरी तरह से चाक-चौबंद है. इस न्याय यात्रा में राजस्थान बीजेपी अध्यक्ष सतीश पूनिया और भाजयुमो के राष्ट्रीय अध्यक्ष तेजस्वी सूर्य मौजूद रहेंगे.

बड़ी संख्या में पुलिस अधिकारी करौली भेजे
न्याय यात्रा को देखते हुये 3 आईपीएस, 10 एएसपी और 15 आरपीएस अधिकारी करौली में भेजे गए हैं. न्याय यात्रा रैली को लेकर पुलिस प्रशासन पूरी तरह से अलर्ट मोड पर है. पूरे शहर में चप्पे-चप्पे पर भारी पुलिस फोर्स तैनात है. कर्फ्यू में ढील की कम की गई अवधि कारण बुधवार को बाजार में सुबह केवल परचून और सब्जी तथा दूध की दुकानें ही खुली हैं. कम समय अवधि के कारण बड़े दुकानदार असमंजस की स्थिति में हैं

यह भी पढ़े

राजस्थान रोडवेज से आई बेटियों के लिये खुशखबरी, दी जा रही है अनुकंपा पर नौकरी, जानें पूरी प्रक्रिया

आपकी राय

क्या मायावती का यूपी चुनावों में हार के लिए मुस्लिम वोटों को जिम्मेदार ठहराना सही है?

View Results

Loading ... Loading ...

Get in Touch

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Related Articles

Latest Posts