Wednesday, September 28, 2022

19 साल के इस लड़के ने जीता ‘केजीएफ 2’ के निर्देशक का भरोसा, शुरू से आखिरी सीन तक बस इसी का चमत्कार

साउथ इंडस्ट्री की मोस्ट अवेटिड फिल्म ‘केजीएफ चैप्टर 2‘ रिलीज हो चुकी है और इस फिल्म ने आते ही सिनेमाघरों में धमाल मचा दिया। फैंस को फिल्म की कहानी, एक्शन, शानदार कलाकारों की दमदार एक्टिंग तक सब कुछ बेहद पसंद आया, जिससे यह फिल्म कमाई के नए आयाम सेट करने आगे बढ़ गई है। इस फिल्म ने अपनी ओपनिंग 134 करोड़ के शानदार कलेक्शन से की थी, जिस वजह से अब हर कोई फिल्म के कलाकारों के शानदार काम की बात कर रहा है। लेकिन आज हम आपको पर्दे के पीछे बैठकर काम करने वाले फिल्म के नए हीरो से मिलवाने जा रहे हैं, जो महज 19 साल का है और उसने अपने काम से फिल्म के निर्देशक प्रशांत नील का दिल जीत लिया।

19 साल का है केजीएफ 2 का मेन एडिटर
‘केजीएफ चैप्टर 2’ के लिए प्रशांत नील ने शानदार कलाकारों को कास्ट किया, जिसमें कई सीनियर कलाकार भी दिखे। लेकिन इस टीम का हिस्सा 19 साल का एक लड़का भी बना, जिसने फिल्म को देखने लायक बनाया। आपको जानकर हैरानी होगी कि प्रशांत नील ने एक्शन से भरपूर अपनी इस फिल्म के लिए किसी बडे़ एडिटर को नहीं चुना, बल्कि उन्होंने इस काम के लिए 19 साल के उज्ज्वल कुलकर्णी पर भरोसा जताया। वहीं, उज्ज्वल भी प्रशांत नील के भरोसे पर खरे उतरे। उन्होंने ही इस फिल्म को एडिट किया, जिसे आज हर कोई पसंद कर रहा है।

कैसे मिली उज्ज्वल कुलकर्णी को फिल्म
19 साल के उज्जवल कुलकर्णी एडिटर हैं, जो शॉर्ट फिल्में एडिट करते हैं। जब प्रशांत नील को उज्ज्वल के काम के बारे में पता चला तो निर्देशक उनके काम से काफी इंप्रेस हुए और फिर उन्होंने इस बिग बजट फिल्म से जुड़ा एक अहम फैसला लेते हुए उज्ज्वल कुलकर्णी को एडिटिंग का जिम्मा सौंप दिया। उज्ज्वल कुलकर्णी ने सबसे पहले प्रशांत नील को फिल्म का ट्रेलर एडिट करके दिखाया, जो बेहद शानदार था और निर्देशक को भी काफी पसंद आया। इसके बाद ही प्रशांत नील ने बड़ा फैसला लेते हुए पूरी फिल्म की एडिटिंग 19 साल के उज्ज्वल कुलकर्णी के हवाले कर दी।

उज्ज्वल ने दी सीनियर एडिटर्स को टक्कर
भारतीय सिनेमा में ऐसा पहली बार हुआ है, जब बड़े बजट की फिल्म की एडिटिंग किसी तुर्रमखां एडिटर ने नहीं की। बल्कि किसी युवा को यह काम सौंपा गया। इससे पहले सिनमाघरों में बिग बजट फिल्में ‘आरआरआर’, ‘पुष्पा द राइज’, ‘राधे श्याम’ रिलीज हुईं, जिसमें सीनियर एडिटर की टीम को शामिल किया गया था, लेकिन उज्ज्वल ने अपने काम से सबको टक्कर दी। 

फिल्म ‘आरआरआर’ की एडिटिंग का काम ए श्रीकर प्रसाद ने किया था, जो बेस्ट एडिटिंग के नेशनल अवॉर्ड से सम्मानित हैं। वहीं ‘पुष्पा द राइज’ की एडिटिंग कार्तिका श्रीनिवास और एंटनी एल रूबेना की टीम ने की। इसी तरह ‘राधे श्याम’ की एडिटिंग का काम कोटागिरी वेंकटेश्वर राव द्वारा किया गया, जो नंदी अवॉर्ड और विजय अवॉर्ड से सम्मानित हो चुके हैं।

यह भी पढ़े

सिरोही में एक और बच्चे ने तोड़ा दम, अब तक 8 की मौत, नहीं खुल रहा अज्ञात बीमारी का रहस्य

आपकी राय

क्या मायावती का यूपी चुनावों में हार के लिए मुस्लिम वोटों को जिम्मेदार ठहराना सही है?

View Results

Loading ... Loading ...

Get in Touch

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Related Articles

Latest Posts