Wednesday, September 28, 2022

आखिर पूर्वी राजस्थान का ही क्यों बना BJP राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा का मौजूदा दौरा? जानें वजह

राजस्थान में ‘मिशन 2023’ की तैयारियों में जुटी प्रदेश भाजपा में जान फूंकने के मकसद से केंद्रीय नेताओं के दौरे शुरू हो गए हैं। पांच में से चार राज्यों में हालिया संपन्न विधानसभा चुनाव में फतह हासिल करने के बाद पहला बड़ा दौरा राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा का लग रहा है। नड्डा आज सवाईमाधोपुर के एक दिनी प्रवास के दौरान एसटी सीटों को साधने की कोशिश करेंगे।

BJP President JP Nadda Rajasthan Visit Sawai Madhopur ST Belt

भाजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा का सुबह साढ़े 10 बजे सवाई माधोपुर पहुंचने का कार्यक्रम है, जहां पार्टी के वरिष्ठ नेता उनकी गर्मजोशी से आगवानी करेंगे। शहर में जगह-जगह स्वागत-अभिनन्दन का सिलसिला चलेगा। इसके बाद वे दोपहर 12 बजे अनुसूचित जनजाति मोर्चा की ओर से आयोजित ‘विशिष्ट-जन सम्मेलन’ में शामिल होकर अपने विचार रखेंगे।

सम्मेलन के बाद नड्डा का भरतपुर संभाग के पदाधिकारियों की महत्वपूर्ण बैठक लेने का भी कार्यक्रम है। दोपहर 2 बजे बुलाई गई इस बैठक में संभाग के सांसद, पूर्व सांसद, विधायक, पूर्व विधायक, प्रदेश और जिला पदाधिकारी सहित प्रमुख नेताओं की मौजूदगी रहेगी। प्रदेश प्रभारी अरुण सिंह और प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनिया भी राष्ट्रीय अध्यक्ष के प्रवास के मद्देनज़र सवाई माधोपुर में ही रहेंगे।


‘पूर्व’ में फिसड्डी साबित हुई थी पार्टी

वर्ष 2018 विधानसभा चुनाव के दौरान भाजपा को पूर्वी राजस्थान में ज़ोरदार झटके लगे थे। कई क्षेत्रों में पार्टी का सूपड़ा साफ़ हो गया था। दौसा ज़िले की 5, करौली ज़िले की 4, सवाई माधोपुर ज़िले की 4 विधानसभा सीटों में से एक पर भी पार्टी को जीत नसीब नहीं हुई थी। वहीं जयपुर ज़िले में दो और टोंक ज़िले में एक सीट पर भी हार का सामना करना पड़ गया था। अब इन्हीं क्षेत्रों के नेताओं को नड्डा जीत का मन्त्र देंगे।

संगठन कार्यक्रम में बदला निजी कार्यक्रम !
जानकारी के अनुसार भाजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा पहले रविवार के दिन एक दिन के निजी प्रवास पर राजस्थान प्रवास पर आ रहे थे। लेकिन प्रदेश संगठन के आग्रह पर उनके इस कार्यक्रम को एक दिन और बढ़ा दिया गया। निजी प्रवास से पहले एक दिन का संगठन प्रवास भी कार्यक्रम में शामिल कर लिया गया। ऐसे में नड्डा आज पूरे दिन संगठन स्तर की बैठकों और मुलाकातों में व्यस्त रहेंगे। रात्रि विश्राम टोंक में करने के बाद रविवार को वे एक पारिवारिक कार्यक्रम में शामिल होंगे।

यह भी पढ़े

राजस्थान में बिजली के बिलों में रियायत शुरू, कम राशि के आने लगे बिल , पढ़ें पूरी खबर

आपकी राय

क्या मायावती का यूपी चुनावों में हार के लिए मुस्लिम वोटों को जिम्मेदार ठहराना सही है?

View Results

Loading ... Loading ...

Get in Touch

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Related Articles

Latest Posts