Saturday, October 1, 2022

रीट के लेवल-1 में शिक्षा विभाग ने कैंडिडेट्स को अलॉट किए जिले

रीट में नियुक्ति को लेकर युवाओं का लंबा इंतजार खत्म हो गया है. शिक्षा विभाग ने लेवल वन के 15 हजार 500 पदों की जिला आवंटन सूची जारी कर दी है. बुधवार देर रात शिक्षा मंत्री बीडी कल्ला ने ट्वीट कर बताया कि रीट लेवल-1 सीधी भर्ती के चयनित अभ्यार्थियों को प्रारंभिक शिक्षा निदेशालय द्वारा जिले आवंटित कर दिए गए हैं. इनके नाम, नियुक्ति पत्र पोस्टिंग के लिए जल्दी ही प्रदेशभर में जिला परिषद को भेजे जाएंगे. इसे जल्दी ही विभाग की वेबसाइट पर अपलोड कर दिया जाएगा.

रीट लेवल-1 में चयनित अभ्यर्थियों को 15 हजार 500 टीचर्स के पदों पर नियुक्ति के लिए प्रारंभिक शिक्षा निदेशालय ने 17 अप्रैल को फाइनल कट ऑफ जारी की थी. इसके तहत नॉन टीएसपी में जनरल वर्ग में पुरुष और महिला को 133 अंक पर नियुक्ति मिल जाएगी. वहीं, ओबीसी महिला और पुरुष में दो अंक कम यानी 131 अंक पर नियुक्ति मिलेगी. एससी में 125, एसटी में 117 कटऑफ रही है. ऐसे में अभ्यर्थी पिछले लंबे वक्त से जिलों के आवंटन का इंतजार कर रहे थे.

नॉन टीएसपी सामान्य शिक्षा के कटऑफ के तहत सामान्य में 133, ओबीसी में 131, ईडब्ल्यूएस में 129, एमबीसी में 127, एससी में 125, एसटी में 117 एवं टीएसपी सामान्य शिक्षा कट ऑफ के तहत सामान्य में 118, एससी में 95, एसटी में 99 रखी गई है. हाईकोर्ट ने रीट-2021 पेपर लीक मामले में सोमवार को सुनवाई करते हुए लेवल-1 के 15 हजार 500 पदों पर होने वाली नियुक्तियों को याचिकाओं में होने वाले फैसले के अधीन रखा है. प्रार्थियों को कहा है कि जांच के संबंध में अगर उनके पास कोई सबूत है तो वे उसे जांच अधिकारी को दें. कोर्ट ने जांच अधिकारी को यह भी निर्देश दिया है कि वे 26 मई तक जांच पूरी कर कोर्ट में तथ्यात्मक रिपोर्ट पेश करें.

राजस्थान में 31 हजार पदों के लिए 25 लाख से ज्यादा अभ्यर्थियों की पिछले साल सितंबर में रीट परीक्षा आयोजित कराई गई थी. इसके 36 दिन बाद रीट का रिजल्ट जारी कर दिया गया था. इसमें से 11 लाख चार हजार 216 को पात्र घोषित किया गया था. इनमें लेवल-1 के लिए 3 लाख तीन हजार 604 और लेवल-2 के लिए 7 लाख 73 हजार 612 को पात्र घोषित किया गया था. परिणाम जारी होने के बाद पेपर लीक होने संबंधी विवाद में सरकार ने लेवल-2 की परीक्षा को रद्द कर दिया.

यह भी पढ़े

जयपुर डिवीजन में मेट्रो जैसी सुविधाएं, प्रत्येक कोच में सीसीटीवी कैमरे, गार्ड रखेगा यात्रियों पर नजर,पढ़ें डिटेल

आपकी राय

क्या मायावती का यूपी चुनावों में हार के लिए मुस्लिम वोटों को जिम्मेदार ठहराना सही है?

View Results

Loading ... Loading ...

Get in Touch

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Related Articles

Latest Posts