Monday, September 26, 2022

खुशखबरी: राजस्थान में PTI के पदों पर सबसे बड़ी भर्ती, जाने कैसे कर सकते है आवेदन

अगर आप सरकारी नौकरी की तैयारी कर रहे है, तो आपके लिए अच्छी खबर है। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की बजट घोषणा के बाद अब शिक्षा विभाग ने शारीरिक शिक्षक भर्ती की वित्तीय स्वीकृति जारी कर दी है। जिसके तहत राजस्थान में पहली बार 5000 से ज्यादा पदों पर शारीरिक शिक्षकों (PTI) की भर्ती की जाएगी।

बजट घोषणा 2020-21 के अनुसार 420 पद, जबकि बजट घोषणा 2022-23 के तहत 5126 पदों पर भर्ती होगी। इसके साथ ही 461 पदों पर वरिष्ठ शारीरिक शिक्षकों की भर्ती की जाएगी। वहीं भर्ती परीक्षा का आयोजन राजस्थान कर्मचारी चयन बोर्ड के माध्यम से कराया जाना प्रस्तावित है।

योग्यता

ग्रेड थर्ड के लिए B.P.Ed. (बैचलर इन फिजिकल एजुकेशन) और D.P.Ed. (डिप्लोमा इन फिजिकल एजुकेशन) योग्यताधारी आवेदन कर सकते हैं, जबकि 461 ग्रेड सेकेंड के पदों पर सिर्फ B.P.Ed. ही आवेदन कर सकेंगे।

एज लिमिट

आपको बता दें कि उम्मीदवारों की उम्र 18 से 40 साल होनी जरूरी है। वहीं, आरक्षित श्रेणी को 40 साल से ज्यादा का होने पर भी भर्ती प्रक्रिया में शामिल होने की छूट दी जाएगी।

आवेदन शुल्क

भर्ती प्रक्रिया में शामिल होने के लिए जनरल कैटेगरी के लिए परीक्षा शुल्क 450 रुपए है। ओबीसी और ईबीसी उमीदवारों के लिए 350 रुपए जबकि एससी-एसटी श्रेणी के लिए उम्मीदवारों को सिर्फ 250 रुपए परीक्षा शुल्क देना होगा।

सैलरी
राजस्थान सरकार द्वारा लागू सातवें वेतनमान के अनुसार PTI को पे-मैट्रिक्स लेवल 10 के आधार पर सैलरी दी जाएगी। हालांकि प्रोबेशन पीरियड के दौरान सरकार की गाइडलाइन के अनुसार सैलरी दी जाएगी। read more-विपक्ष ने अशोक गेहलोत की तुलना औरंगजेब से की, पहले करौली हिंसा, अब 300 साल पुराने मंदिर पर बुलडोजर ने गेहलोत सरकार की मुश्किलें बढ़ाई

अब तक की सबसे बड़ी भर्ती

ग्रेड थर्ड के 5126+ 420 पदों पर भर्ती अब तक की सबसे बड़ी भर्ती बताई जा रही है। इससे पहले वर्ष 2018 में वसुंधरा राजे सरकार ने एक साथ 4500 पदों पर ग्रेड थर्ड के पीटीआई की भर्ती की थी। ऐसे में शिक्षा विभाग द्वारा इस बार पांच हजार से ज्यादा पीटीआई की भर्ती पहली बार होने का दावा किया जा रहा है।

दरअसल, पिछले दो सालों में राजस्थान के सरकारी स्कूलों में लगभग 5 लाख से ज्यादा नए नामांकन हुए हैं। इसके बाद शिक्षा विभाग ने स्टाफिंग पैटर्न लागू कर हर स्कूल में शिक्षकों के नए पद बनाए हैं। हर स्कूल में छात्रों की संख्या के आधार पर शिक्षकों को लगाया जाएगा। स्टाफिंग पैटर्न के बाद सबसे ज्यादा फायदा शारीरिक शिक्षकों को होगा। पहले जहां स्कूलों में 120 विद्यार्थियों पर एक शारीरिक शिक्षक की नियुक्ति होती थी, वहीं नए स्टाफिंग पैटर्न के बाद अब 105 विद्यार्थियों पर एक शारीरिक शिक्षक की नियुक्ति की जाएगी। read more- IAS टीना डाबी और प्रदीप गवांडे बंधे शादी के बंधन में, अंबेडकर को साक्षी मानकर की नए सफर की शुरुआत, जाने किस होटल में रखा रिसेप्शन

आपकी राय

क्या मायावती का यूपी चुनावों में हार के लिए मुस्लिम वोटों को जिम्मेदार ठहराना सही है?

View Results

Loading ... Loading ...

Get in Touch

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Related Articles

Latest Posts