Saturday, October 1, 2022

जहांगीरपुरी हिंसा मामले में सुप्रीम कोर्ट से आदेश मिलते ही उपद्रवियों के अवैध निर्माण पर फिर गरजेगा बुलडोजर

हनुमान जन्मोत्सव पर 16 अप्रैल को दिल्ली के जहांगीरपुरी इलाके में हुई हिंसा के बाद उत्तरी दिल्ली नगर निगम यहां पर अतिक्रमण और अवैध निर्माण ढहा रहा है। बुधवार को सुबह 10 बजे से साढ़े बारह बजे तक अवैध निर्माण हटाने की कार्रवाई होती रही, लेकिन सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद इसे रोक दिया गया। सुप्रीम कोर्ट ने इलाके में यथास्थिति बनाए रखने के आदेश दिया है। इस पर बृहस्पतिवार को सुनवाई होगी। 

इस बीच उत्तर दिल्ली नगर निगम की ओर से कहा गया है कि तकरीबन आधा दर्जन बुलडोडर आसपास ही मौजूद हैं, जैसे ही सुप्रीम कोर्ट की मंजूरी मिलेगी अवैध निर्माण तोड़े जाने की कार्रवाई शुरू कर दी जाएगी। इससे पहले बुधवार को जहांगीरपुरी में शोभायात्रा पर हमला करने वाले उपद्रवियों के खिलाफ बुलडोजर चला, इस दौरान कई अतिक्रमण हटाए गए। 

बुधवार को यहां पहुंचे सात बुलडोजर के जरिये उपद्रवियों के अवैध निर्माण को ध्वस्त कर 100 मीटर से अधिक के दायरे में सड़क व फुटपाथ को अतिक्रमणमुक्त करा दिया गया। जहांगीरपुरी के सी-ब्लाक की मस्जिद के अवैध निर्माण को ढहाने के साथ मंदिर के पास हुए अतिक्रमण को भी हटाया गया। जमीयत उलमा ए हिंदू की याचिका पर सर्वोच्च न्यायालय ने स्थगन आदेश दिया। इस पर बृहस्पतिवार को सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई होगी।

इससे पहले बुधवार को ही उत्तरी दिल्ली नगर निगम के उपायुक्त संजय गोयल व महापौर राजा इकबाल सिंह पुलिस बल के साथ उस स्थान पर पहुंचे, जहां हिंसा शुरू हुई थी। कुछ ही देर में एक-एक करके सात बुलडोजर पहुंच गए और अवैध निर्माण को ध्वस्त करना शुरू कर दिया। पार्क से लेकर दुकानों और मस्जिद तक के अवैध निर्माण को हटाया गया।

कार्रवाई से बांग्लादेशी घुसपैठियों की बस्ती में हड़कंप मच गया। उन्होंने कार्रवाई को रोकने का प्रयास किया, लेकिन भारी पुलिस बल होने की वजह से अधिक उत्पात नहीं मचा सके। इस बीच वामपंथी नेता वृंदा करात भी कार्रवाई रोकने पहुंचीं। करीब दो घंटे तक चली कार्रवाई को सुप्रीम कोर्ट का आदेश आने के बाद निगम ने रोक दिया और बुलडोजर लौट गए। उधर, एआइएमआइएम के प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी भी शाम में जहांगीरपुरी पहुंचे, लेकिन उन्हें पुलिस ने संवेदनशील इलाके में नहीं जाने दिया।

आपकी राय

क्या मायावती का यूपी चुनावों में हार के लिए मुस्लिम वोटों को जिम्मेदार ठहराना सही है?

View Results

Loading ... Loading ...

Get in Touch

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Related Articles

Latest Posts