Saturday, October 1, 2022

जयपुर में बोले PM मोदी : परिवारवाद-वंशवाद लोकतंत्र के लिए सबसे घातक, BJP ने स्थापित की विकासवाद की राजनीति

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को जयपुर में भारतीय जनता पार्टी के पदाधिकारियों को संबोधित किया. वह इस कार्यक्रम से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए जुड़े थे. भाजपा पदाधिकारियों की इस बैठक में पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा भी शामिल हुए. उन्होंने दीप प्रज्वलित कर बैठक की शुरुआत की. मंच पर जेपी नड्डा के अलावा राजस्थान के भाजपा अध्यक्ष सतीश पुनिया भी मौजूद रहे. इस दौरान पीएम मोदी ने कहा, जनसंघ से लेकर हमारी जो यात्रा शुरू हुई और भाजपा के रूप में फली-फूली, पार्टी के इस रूप और स्वरूप को जब हम देखते हैं तो गर्व तो होता ही है. इसके निर्माण में खुद को खपाने वाले सभी लोगों को मैं नमन करता हूं. हमारा दर्शन है पंडित दीनदयाल उपाध्याय का एकात्म मानववाद और अंत्योदय. हमारा चिंतन है डॉक्टर श्यामा प्रसाद मुखर्जी की सांस्कृतिक राष्ट्रनीति.

देश में हिंदी को लेकर जारी बहस पर प्रधानमंत्री मोदी ने विपक्षी दलों पर निशाना साधा. उन्होंने कहा कि भाजपा का लक्ष्य ​दूसरे दलों को भी विकासवाद की राजनीति करने पर मजबूर करना है. चाहे समाज को तोड़ने की राजनीति करने वाले ही दल क्यों न हो, लेकिन चुनाव में विकास की बात उन्हें करनी पड़ रही है. वे विकासवाद की राजनीति से बच नहीं सकते. ऐसे दल देश के भविष्य, युवा पीढ़ी को खोखला करने का काम करते हैं, समाज की कमजोरियों पर खेलते हैं. कभी जाति के नाम पर, कभी क्षेत्र के नाम पर, कभी भाषा के नाम पर देश को बांटने की कोशिश करते हैं. हमें सतर्क रहना होगा. भारतीय जनता पार्टी हर भाषा को पूजनीय मानती है. नई नेशनल एजुकेशन पॉलिसी में स्थानीय भाषाओं को प्राथमिकता देना, हर क्षेत्रीय भाषा के प्रति हमारे कमिटमेंट को दिखाता है. भाजपा, भारतीय भाषाओं को भारतीयता की आत्मा मानती है और राष्ट्र के बेहतर भविष्य की कड़ी मानती है.

हमें देश के लोगों के साथ मिलकर हर चुनौतियों को पार करना है: PM मोदी
उन्होंने कहा कि, मेरे मन में यह कसक रह जाएगी कि मैं इस कार्यक्रम में सशरीर शामिल नहीं हो पाया. उन्होंने कहा कि 21वीं सदी भारत के लिए काफी अहम है. दुनिया आज भारत को बहुत उम्मीदों से देख रही है. ठीक वैसे ही भारत में भाजपा के प्रति जनता का विशेष स्नेह दिख रहा है. हमें देश के लोगों की उम्मीदों को पूरी करना है. देश के सामने जो चुनौतियां हैं, हमें देश के लोगों के साथ मिलकर हर चुनौतियों को पार करना है. हमारे देश में एक लंबा कालखंड ऐसा रहा जब लोगों की सोच ऐसी हो गई थी कि बस किसी तरह समय निकल जाए, न सरकार से उनको अपेक्षा थी और न ही सरकार उनके प्रति अपनी कोई जवाबदेही समझती थी, 2014 के बाद भाजपा देश को इस सोच से बाहर निकालकर लाई है.

देश की जनता की यह आशा-आकांक्षा हमारा दायित्व बहुत बढ़ा देती: PM मोदी
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा, मैं देश के उज्ज्वल भविष्य को भली भांति देख रहा हूं. जब मैं आत्मविश्वास से भरे हुए देश के युवाओं को देखता हूं, कुछ कर गुजरने के हौसले के साथ आगे बढ़ती हुई बहन-बेटियों को देखता हूं तो मेरा आत्मविश्वास भी कई गुना बढ़ जाता है. उन्होंने कहा कि, देश की जनता की यह आशा-आकांक्षा हमारा दायित्व बहुत बढ़ा देती है. आजादी के इस अमृत काल में देश अपने लिए अगले 25 वर्षों का लक्ष्य तय कर रहा है. भाजपा के लिए भी यह समय है, अगले 25 वर्षों के लक्ष्यों को तय करने का, और उन लक्ष्यों की प्राप्ति के लिए निरंतर काम करने का. हमारा मंत्र है ‘सबका साथ, सबका विकास, सबका विश्वास और सबका प्रयास’.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपनी सरकार के 8 वर्षों का रिपोर्ट कार्ड बताया
उन्होंने कहा कि इस महीने केंद्र की भाजपा सरकार के, एनडीए सरकार के 8 वर्ष पूरे हो रहे हैं. ये 8 वर्ष संकल्पों के रहे हैं, सिद्धियों के रहे हैं. ये 8 वर्ष सेवा, सुशासन और गरीब कल्याण को समर्पित रहे हैं. ये 8 वर्ष देश के छोटे किसानों, श्रमिकों, मध्यम वर्ग की अपेक्षाओं को पूरा करने वाले रहे हैं. ये 8 वर्ष देश के संतुलित विकास, सामाजिक न्याय और सामाजिक सुरक्षा के लिए रहे हैं. ये 8 वर्ष देश की माताओं-बहनों-बेटियों के सशक्तिकरण, उनकी गरिमा बढ़ाने के प्रयासों के नाम रहे हैं. मैं सैचुरेशन की बात करता हूं. सैचुरेशन सिर्फ पूर्णता का आकंड़ा भर नहीं है. यह भेदभाव, भाई-भतीजावाद, तुष्टिकरण, भ्रष्टाचार के चंगुल से देश को बाहर निकालने का माध्यम है.

भाजपा सरकार में डिलीवरी मैकेनिज्म पर जनता का भरोसा बढ़ा: PM मोदी
पीएम मोदी ने कहा कि सरकार पर, सरकार की व्यवस्थाओं पर, सरकार के डिलीवरी मैकेनिज्म पर किसी समय देश का जो भरोसा उठ गया था. 2014 के बाद जनता जनार्दन के आशीर्वाद से भाजपा सरकार उसे वापस लेकर आई है. आज गरीब से गरीब भी अपने आसपास लोगों को योजनाओं का लाभ मिलते देख रहा है. वह आज बहुत विश्वास से कहता है कि एक न एक दिन मुझे भी इस योजना का लाभ अवश्य मिलेगा. जिस एक और विषय पर हमें निरंतर काम करते रहना है वह है देश में विकासवाद की राजनीति की चौतरफा, चारो दिशा में स्थापना होनी चाहिए. हम देख रहे हैं कि आज कुछ पार्टियों का इकोसिस्टम पूरी शक्ति से देश को मुख्य मुद्दों को भटकाने में लगा हुआ है. हमें कभी ऐसी पार्टियों के जाल में नहीं फंसना है. हमें कभी कोई शॉर्ट-कट नहीं लेना है. हमें देशहित से जुड़े जो भी बुनियादी विषय हैं, जो मुख्य मुद्दे हैं, उन्हीं पर आगे बढ़ना है.

परिवारवाद और वंशवाद लोकतंत्र के लिए सबसे घातक परंपरा है: PM मोदी
प्रधानमंत्री ने मुख्य मुद्दे गिनाए. उन्होंने कहा गरीब का कल्याण, गरीब का जीवन आसान बनाने के लिए, गरीब को सशक्त करने के लिए हमें लगातार काम करना है. मैं आज के युवाओं की भाषा में कहूं, तो जो भारत के समृद्ध भविष्य के कोड लिखने के लिए लालायित हैं, ऐसे हर युवा को हमें भाजपा के साथ जोड़ना है. हमें यह याद रखना है कि परिवारवाद की राजनीति से विश्वासघात खाने वाले देश के युवाओं का विश्वास सिर्फ भाजपा ही लौटा सकती है. आजादी के बाद से ही वंशवाद और परिवार वाद ने देश का कितना भयंकर नुकसान किया है. परिवारवादी पार्टियों ने देश में भ्रष्टाचार को, धांधली को, भाई-भतीजा वाद को, इसी को आधार बनाकर देश का बहुत मूल्यवान समय बर्बाद किया है. ये परिवारवादी पार्टियां आज भी देश को पीछे ले जाने पर तुली हुई हैं. उनका सार्वजनिक जीवन परिवार से शुरू होता है, परिवार के लिए चलता है, परिवार के खातिर ही करता है. भजपा को इन परिवारवादी पार्टियों से निरंतर मुकाबला करना है. परिवारवाद-वंशवाद लोकतंत्र के लिए ये सबसे घातक परंपरा है.

Rajasthan Weather Alert: प्रदेश में भीषण गर्मी से लोगों का जनजीवन प्रभावित, राज्य के कई जिलों में चल रहीं भीषण लू

आपकी राय

क्या मायावती का यूपी चुनावों में हार के लिए मुस्लिम वोटों को जिम्मेदार ठहराना सही है?

View Results

Loading ... Loading ...

Get in Touch

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Related Articles

Latest Posts