Monday, September 26, 2022

नवविवाहित दलित दंपति को मंदिर में पुजारी ने नहीं दिया प्रवेश, पुलिस ने की ये कार्रवाई

राजस्थान पुलिस ने जालोर के एक मंदिर में एक नवविवाहित दलित जोड़े को पूजा करने की अनुमति नहीं देने के आरोप में एक पुजारी को रविवार को गिरफ्तार किया. यह जानकारी अधिकारियों ने दी. शनिवार को हुई घटना का एक वीडियो भी वायरल हो गया, जिसमें वेला भारती जिले के अहोर अनुमंडल अंतर्गत नीलकंठ गांव में मंदिर के द्वार पर दंपति को कथित तौर पर रोकते दिख रहे हैं. वीडियो में उनके बीच हुई बहस भी रिकार्ड हो गई.

आजादी के 70 साल बाद भी छुआछूत के मामले सामने आ रहे हैं देश आजादी के अमृत उत्सव मना रहा है वहीं राजस्थान के जालौर से छुआछूत को लेकर ऐसी खबर सामने आई है जिस ने कई सवाल खड़े कर दिए हैं एक नवविवाहित दलित जोड़े को शिव मंदिर में एंट्री देने से पुजारी ने इनकार कर दिया. उसने कहा कि बाहर से ही धोक लगाओ. तुम्हारे नारियल बाहर से चढ़ेंगे. इसको लेकर पुजारी और दूल्हे के बीच बहस हुई. दूल्हे का आरोप है कि उसे मंदिर में प्रवेश नहीं दिया गया. साथ आए युवकों ने इसका विरोध भी किया. इस दौरान गाली-गलौज भी हुई. पीड़ितों ने शनिवार को जालौर पुलिस अधीक्षक से शिकायत की है. पुलिस ने एससी-एसटी एक्ट के तहत मामला दर्ज करके पुजारी को गिरफ्तार कर लिया है. यह मामला जालोर के भाद्राजून स्थित नीलकंठ गांव का है.

एससी-एसटी एकट के तहत किया गया है मामला दर्ज

21 अप्रैल को आहोर के साढ़ण गांव से दूल्हे कुकाराम की बारात नीलकंठ गांव आई थी. गुरुवार को फेरों के बाद शुक्रवार को विदाई होनी थी. परंपरा के अनुसार विदाई से पहले दूल्हा-दुल्हन को मंदिर में धोक लगा और नारियल चढ़ा कर रवाना होना था. दुल्हन की मौसी के लड़के ने बताया कि हम लोग मंदिर में नारियल चढ़ा रहे थे. इसी दौरान पुजारी वेला भारती ने उन्हें अंदर जाने को लेकर टोक दिया. इसके बाद पुजारी ने मंदिर में नारियल चढ़ाने से भी रोक दिया. इस बात को लेकर विवाद बढ़ गया. शनिवार को यह मामला ताराराम एसपी के पास पहुंचा जहां पुजारी के खिलाफ शिकायत किया गया. इसके बाद भाद्राजून थाने में पुजारी वेला भारती के खिलाफ एससी-एसटी एक्ट के तहत मामला दर्ज किया गया. शनिवार दोपहर डिप्टी हिम्मत चारण मौके पर पहुंचकर घटना की जानकारी ली.

घटना का विडियो आया सामने
इस मामले का एक वीडियो भी सामने आया है. इसमें एक युवक पुजारी से उलझते हुए नजर आ रहा है. पुजारी ने जब बाहर से ही पूजा करने और नारियल चढ़ाने का कहा तो दंपती के साथ आया एक युवक भड़क गया. वीडियो में पुजारी मंदिर के बाहर पूजा करने की बात कर रहे हैं, इस दौरान एक युवक यह भी कहता है कि यह गांव का फैसला है. तुम लोग पुजारी से क्यों उलझ रहे हो.

आपकी राय

क्या मायावती का यूपी चुनावों में हार के लिए मुस्लिम वोटों को जिम्मेदार ठहराना सही है?

View Results

Loading ... Loading ...

Get in Touch

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Related Articles

Latest Posts