Monday, September 26, 2022

पीडब्ल्यूडी मंत्री भजनलाल जाटव कहीं सीएम की भूल तो नहीं ? कार्यशैली से नाराज विधायक मंत्री जी से भिड़े , जानिए क्या है मामला

  • मंत्री भजनलाल जाटव की कार्यशैली से विधायक नाराज
  • कामकाज के तरीके पर लोगों ने भी दिखाई नाराजगी
  • सोशल मीडिया, फेसबुक, ट्वीटर पर लोग कर रहे मंत्री के खिलाफ कमेंट

जयपुर। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के विभाग बंटवारे के बाद कई विधायकों को ऐसे महकमों का मंत्री बना दिया गया। जिसमें अब वह खुद चक्कर घिन्नी खाने लगे हैं। पीडब्ल्यूडी मंत्री भजनलाल जाटव को सीएम ने प्रभार तो दिया, लेकिन कामकाज की कार्यशैली से अब उनकी योग्यता पर सवाल उठने लगे हैं। मंत्री के खिलाफ जमकर विधायक, मंत्री सोशल मीडिया पर भड़ास निकाल रहे हैं। अब तो लोग भी कहने लग गए कि पीडब्ल्यूडी का प्रभार भजनलाल जाटव को देना कहीं सीएम की भूल तो नहीं हो गई।

गहलोत सरकार के मंत्री जनता की उम्मीदों पर कितना खरा उतर पाएंगे यह तो देखने वाली बात होगी, लेकिन सरकार के मंत्रियों के कामकाज के तरीके विधायकों को रास नहीं आ रहे हैं। ऐसा ही एक ताजा मामला भरतपुर का सामने आया है। जहां हलैना-नदबई-नगर मार्ग पर पीडब्ल्यूडी की ओर से किए गए काम को लेकर सरकार के ही विधायकों ने मंत्री भजनलाल जाटव पर निशाना साधा है।

देवनारायण बोर्ड अध्यक्ष और नदबई विधायक जोगेंद्र अवाना ने हलैना-नदबई-सड़क मार्ग के कामकाज को लेकर मंत्री की ओर से दिए बयान पर निशाना साधा है। अवाना ने कहा कि मंत्री भजन लाल जाटव जी आपको सड़क की गुणवत्ता से आपत्ति नहीं है परन्तु मुझे और मेरे सम्मानित क्षेत्रवासियो को सड़क के घटिया निर्माण से आपत्ति है। इसके लिए अवाना ने रामधारी सिंह दिनकर की कविता की चार पंक्तियों के जरिए मंत्री पर हमला बोला है। उन्होंने कहा कि
“याचना नही अब रण होगा, संघर्ष बड़ा भीषण होगा
दुर्योधन दृश्य विकट होगा, रण में अब काल प्रकट होगा
महारथी वीर चिल्लाएंगे, फिर भी कोलाहल रोक ना पाएंगे”

विधायक जोगिंद्र सिंह अवाना ने फेसबुक पे किया है ये पोस्ट https://www.facebook.com/105318147775160/posts/550207396619564/

अवाना ने कहा कि सड़क की घटिया क्वालिटी को लेकर क्वालिटी कन्ट्रोल के अधिकारियों व राजस्थान के PWD हैड संजीव माथुर को आपत्ति है। उन्होंने कहा कि सड़क की गुणवत्ता की जांच मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के निर्देश पर हुई है। करोड़ों रूपये की नियम विरूद्ध ठेकेदारों को कराई कई पैमेन्ट जनता की गाढ़ी कमाई है। आप मीडिया में बोलने से पहले उच्च अधिकारियों से फ़ीडबैक लेकर बोलते तो अच्छा लगता, क्योंकि संबंधित ठेकेदारों व अधिकारियों को नोटिस आपके विभाग के मुखिया चीफ़ इंजीनियर ने ही भेजा है और कोर कमेटी की रिपोर्ट में व्यापक गड़बड़ी मिली है। उसी सड़क को आपकी ओर से अच्छी बताया जा रहा है।

इसी मामले में नगर विधायक वाजिब अली भी जोगेंद्र अवाना के समर्थन में आ गए हैं। उन्होंने भी पीडब्ल्यूडी के कामकाज को लेकर मंत्री भजनलाल जाटव को कटघरे में खड़ा किया है। वाजिब अली ने कहा कि मंत्री भजनलाल जाटव जी PWD अधिकारियों की लापरवाही से विभाग के काम रुक रहे हैं। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि आपके बयान में आपने कहा की नगर में गांव वाले रोड नहीं बनाने दे रहे हैं। इस पर उन्होंने फेसबुक पर तस्वीर दिखाते हुए बताया कि ये तस्वीर देखिए और बताइये कि रोड अभी आधा बना है और उसकी हालत ये है तो आगे केसा बनेगा।

विधायक जोगिंद्र सिंह अवाना का समर्थन करते हुए नगर विधायक वाजिब अली ने फेसबुक पे किया है ये पोस्ट ,

https://www.facebook.com/705803386106033/posts/5302896029730056/


गुलपाड़ा में अल्पसंख्यक होस्टल वा सामुदायिक भवन का टेंडर हुए 1 साल से ज़्यादा हो गया लेकिन अभी तक ठेकेदार ने गुलपाड़ा जा कर नहीं देखा है। सीकरी में मेरी माता ने बालिका आवास के लिए ज़मीन दान दी लेकिन एक साल से अभी तक सिर्फ नीव ही भरी है। PPP मोड पर बन रही खेरली-पहाड़ी रोड पर सीकरी में 3KM CC का निर्माण हुआ और अभी तक नाला नहीं बनाया गया है। नगर- नदबई के रोड की शिकायत लोग करते हैं और जाँच में गुणवत्ता नहीं पायी गयी। उन्होंने कहा कि साथी विधायक जोगेंद्र अवाना के बयान से सहमत हूँ की जाँच में जो दोषी ठेकेदार और अधिकारी है उन पर सख़्त कार्यवाही हो। निश्चित ही आपके विभाग के अधिकारी आपको गुमराह कर रहे हैं। उम्मीद है आप शीघ्र ही उचित कार्यवाही करेंगे। गौरतलब है कि इसके लिए विधायक अवाना ने सड़क निर्माण के कामकाज को लेकर टेंडर प्रक्रिया, काम की गुणवत्ता की रिपोर्ट भी सबके सामने रखी।

आपकी राय

क्या मायावती का यूपी चुनावों में हार के लिए मुस्लिम वोटों को जिम्मेदार ठहराना सही है?

View Results

Loading ... Loading ...

Get in Touch

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Related Articles

Latest Posts