Monday, September 26, 2022

Rajasthan: पश्चिम राजस्थान बना सौर ऊर्जा का केंद्र, जाने 5 जिलों में कितने प्लांट लगा रही कंपनियां

देश की कई कंपनियों ने सौर ऊर्जा संयंत्र लगाने के लिए जैसलमेर, बीकानेर, जालोर और जोधपुर जिले को चुना है। जानकारी के मुताबिक़ इन जिलों में करीब 12 हजार मेगावाट के सोलर प्लांट लगाए जा रहे हैं। रेगिस्तानी इलाके में गर्मियों में अधिकतम पारा 50 डिग्री के करीब रहता है। ऐसे में सौर ऊर्जा से बिजली उत्पादन के लिए पश्चिमी राजस्थान के इन पांच जिलों को भारत सरकार ने सौर परियोजना लगाने के मिशन के तौर चयन किया है। आने वाले समय में प्रदेश ही नहीं देश में सबसे ज्यादा बिजली उत्पादन क्षमता वाले जिले होंगे।

भड़ला में देश का सबसे बड़ा सोलर पार्क

देश का सबसे बड़ा सोलर पार्क जोधपुर के भड़ला में है। बाड़मेर-जैसलमेर में दूर-दूर तक फैले अथाह रेत के टीलों की फिजां अब बदलने लगी है। पहले तेल-गैस उत्पादन के भंडार मिले और अब ऊर्जा उत्पादन में भी देश में टॉप बनने की ओर अग्रसर हो रहा है। बाड़मेर-जैसलमेर और जोधपुर में प्रदेश के जोधपुर में स्थित भड़ला सोलर पार्क अब विश्व का सबसे बड़ा सोलर पार्क हो गया है।

यहां सोलर पार्क 14 हजार एकड़ यानी करीब 50 हजार वर्ग किमी में फैला है तथा यहां पर 18 बड़ी कंपनियों के 36 सोलर प्लांट लगे हुए है और 2245 मेगावाट बिजली का उत्पादन हो रहा है।करीब 100 ज्यादा सोलर कंपनियां बाड़मेर, जैसलमेर, जोधपुर, बीकानेर और जालोर में सोलर प्लांट लगाने के लिए जमीन तलाश रही हैं। बाड़मेर के शिव और जैसलमेर के पोकरण, फतेहगढ़, भणियाणा इलाके में सबसे ज्यादा सोलर प्लांट के लिए जमीन अवाप्त हो रही है।

राजस्थान में सोलर प्लांट के लिए 1000 से ज्यादा कंपनियों ने निवेश के लिए सहमति जताई

1 जोधपुर: महिंद्रा रिन्यूवेबल 250 (बाप), किलाज 50 (सिहरा), क्लीन सोलर 250 बाप, अजूरे पॉवर 300 बाप, अजूरे पॉवर 300 बाप, मेगा सूर्य ऊर्जा 250 जोधपुर, एसबीई रिन्यूवेबल 150 फलौदी, एसबीई 600 बाप, ईडेन रिन्यूवेबल 300 बाप, एएमपी एनर्जी 300 बाप, सोलरपार्क 300 बाप, सीतारा सोलर 100 बाप

2 जैसलमेर: एसीएमई 1200 सनावड़ा(पोकरण), रिन्यू सन 300 फतेहगढ़, इडेन रिन्यूवेबल 300 सनावड़ा, रिन्यू सोलर 300 फतेहगढ़, एसबीई रिन्यूवेबल 180 पोकरण, रिन्यू सोलर 300 फतेहगढ़, एएमपी एनर्जी 100 सम, रिन्यू सोलर 200 फतेहगढ़, आईबी 300 फतेहगढ़, रिन्यू सोलर 600 फतेहगढ़, एसीएमई 250 भणियाणा, फोरटूम सोलर पोकरण 250, रिन्यू सोलर 110 फतेहगढ़, पाली मारवाड़ सोलर 20 पोकरण, क्लीन सोलर 250 भणियाणा

3 बीकानेर: अजूरे पॉवर 600 दूदेसर, क्लीनटेक इलेवन 300 लालासर, अयाना रिन्यूवेबल 300 खिचिया, अवाडा आरजे प्राजेक्ट 300 नूरेसर, अविकिरण सूर्या 300 जमसर, अयाना 300

4 बाड़मेर: ईडान रिन्यूवेबल 300 शिव, एसीएमई 250 शिव, रिन्यू पॉवर 600 नेगरड़ा व कोट़ड़ा (शिव)

5 जालोर: अडाणी ग्रुप की ओर से चितलवाना, भाटकी, जोरादर, कडिया, मंडाली, शिवनगर, खेजड़ली के 6 हजार हे. में 2000 मेगावाट का सोलर पॉवर प्लांट।

सरकार का 5 साल में 1 लाख मेगावाट बिजली उत्पादन का लक्ष्य
आगामी 5 साल में प्रदेश में 1 लाख मेगावाट क्षमता के सौर ऊर्जा संयंत्र लगेंगे। वर्तमान में सर्वाधिक बिजली उत्पादन तापीय संयंत्रों से हो रहा है। ऐसे में लगातार कोयले की कमी के चलते बिजली सप्लाई में बाधा उत्पन्न हो रही है। इसी वजह से पश्चिमी राजस्थान के इन जिलों में 100 सोलर प्लांट लगाए जाने की तैयारी हो चुकी है।

आपकी राय

क्या मायावती का यूपी चुनावों में हार के लिए मुस्लिम वोटों को जिम्मेदार ठहराना सही है?

View Results

Loading ... Loading ...

Get in Touch

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Related Articles

Latest Posts