Saturday, October 1, 2022

Rajasthan: शहरों में अब एक गाय पालने का नियम नहीं होगा लागू, गहलोत ने की बड़ी घोषणा

राजस्थान के शहरों में गाय पालने के लिए लाइसेंस लेने का नियम अब लागू नहीं होगा। जानकारी के मुताबिक सीएम अशोक गहलोत ने घोषणा की है कि राजस्थान में कहीं भी आदेश लागू नहीं होगा। साथ ही गहलोत ने गौशालाओं को इसी वित्तीय वर्ष से साल के 9 महीने अनुदान देने की भी घोषणा भी की है।

सीएम ने कहा कि हाईकोर्ट के आदेश से परिपत्र निकाल दिया था। यह आदेश जयपुर में लागू हुआ है। सीएम गहलोत ने कहा कि अब राजस्थान में यह आदेश कही भी लागू नहीं होगा।
गौरतलब है कि अप्रैल के महीने में सरकार ने एक परिपत्र जारी कर गायों को पालने के लिए पशु मालिकों के लिए लाइसेंस लेने की व्यवस्था लागू की थी। जारी आदेश के अनुसार राज्य के शहरी क्षेत्रों की केटेगरी में आने वाले घरों में गाय-भैंस रखने के लिए एक साल का लाइसेंस लेना होगा।

100 गज जगह है जरुरी

बता दें कि गाय को रखने के लिए 100 गज जगह भी रखनी होगी। साथ ही अगर जानवर भटकते हुए पाए गए तो मालिकों पर 10 हजार रुपये का जुर्माना भी लगाने का प्रावधान था।

राजस्थान में गौशालाओं को वर्ष में 6 की जगह 9 महीने सरकारी अनुदान मिलेगा। जिससे गौशालाओं को संबल प्राप्त होगा। मुख्ममंत्री अशोक गहलोत ने रविवार को सांगानेर स्थित पिंजरापोल गौशाला में राजस्थान गौ सेवा समिति की ओर से आयोजित गौ रक्षा संत हुंकार सभा को संबोधित किया।

सीएम गहलोत ने कहा कि राज्य सरकार द्वारा 1.56 करोड़ के अनुदान से प्रत्येक ब्लाक में नंदी गौशालाएं खोली जा रही है जिससे बेसहारा गौवंश को आश्रय मिलेगा। सीएम गहलोत ने कहा कि भारतीय संस्कृति में गाय का महत्वपूर्ण स्थान है। गाय के प्रति भगवान श्रीकृष्ण और महात्मा गांधी के विचार सर्वविदित है। read more- Rajasthan: अशोक गहलोत ने कसा पायलट पर निशाना, बोले कुछ खिलाड़ी छिपकर जाते है दिल्ली

गौ सेवा करने वालों को पूरे समाज मेंसम्मान मिलता है। गौ सेवा से जुड़ा व्यक्ति हमेशा सच्चाई और अहिंसा के रास्ते पर चलता है। इससे पहले सीएम ने गौशाला में गौ वंश को गुड़ खिलाकर गौ पूजन किया। गहलोत ने कहा कि राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की शिक्षाएं वर्तमान संदर्भ में अत्यंत प्रासंगिक है। गांधीजी ने कहा कि आंख के बदले आंख की नीति पर चलने से सारे संसार के अंधे होने का खतरा है। किसी वर्ग द्वारा हिंसा बर्दास्त नहीं करनी चाहिए। हिंसक तत्वों का बहिष्कार करना चाहिए।

आपकी राय

क्या मायावती का यूपी चुनावों में हार के लिए मुस्लिम वोटों को जिम्मेदार ठहराना सही है?

View Results

Loading ... Loading ...

Get in Touch

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Related Articles

Latest Posts