Saturday, October 1, 2022

Rajasthan: 70 कस्बों का अब नहीं टूटेगा मुख्यालय से संपर्क, जाने पूरी खबर

बारिश के समय में सुकड़ी, बांडी, लुणी नदी में पानी भराव होने से बाड़मेर जिला मुख्यालय से करीब 70 छोटे-बड़े कस्बों का संपर्क टूट जाता था। सड़क हादसे सहित बीमार मरीज को अस्पताल पहुंचाने में घंटों समय लग जाता था। लेकिन अब यह संपर्क संभवत: कभी नहीं टूटेगा। हाईवे निर्माण कंपनी इस नदी पर ओवरब्रिज निर्माण का कार्य पूरा होने वाले है। जल्द इस ओवरब्रिज व पुल का निर्माण होने से आवागमन शुरू हो जाएगा।

यह हाईवे जोधपुर संभाग के हर जिले को जोड़ेगा । सिवाना से बालेसर 600 किलोमीटर तक लंबा मेगा हाईवे तैयार होने वाला है। इस हाईवे पर रोजना सैकड़ों वाहन दौड़ेगे।

दरअसल, प्रदेश में बारिश के बाद सुकड़ी, बांडी व लूणी नदी का मिलन बाड़मेर जिले के रामपुरा गांव में होता है। इन नदियों में पानी आ जाने के बाद समदड़ी सहित आसपास कोटड़ी , मजल, करमावास, बामसीन, लाखेटा , कमो का पाड़ा, देवलीयाली, अजीत, महेश नगर, खंडप सहित करीब 70 छोटे-बड़े कस्बों का उपखंड व जिला मुख्यालय से करीब दो माह तक संपर्क टूट जाता है।

सिवाना से बालेसर (जोधपुर) तक हाईवे में 600 किलोमीटर दूरी में कुल 90 पॉइंट दिए गए है।हाईवे निर्माण में कार्यरत कंपनी के सिविल इंजीनियर मनीष चौधरी ने बताया कि कई जिलों में अब तक बड़े-बड़े हाईवे एवं ब्रिज निर्माण करवाए, इसमें सैकड़ों की तादाद में बड़े वाहन व छोटे वाहनों को सुविधाएं मिल रही है। वहीं, व्यापारिक दृष्टि से भी ट्रांसपोर्ट को भी बड़ा फायदा मिलने के साथ ईधन की खपत में भी कमी आएगी।

21 पीलर पर बन रहा है ओवरब्रिज

समदड़ी लूणी नदी पर निर्माणाधीन 700 मीटर के ओवरब्रिज में 90 मजदूर 16 घंटे काम कर रहे है। न्यू टेक्नोलॉजी की मशीनरी से बरसात से पहले ओवरब्रिज का कार्य पूरा करने का टारगेट रखा गया है। 21 पिलर पर बनने वाले इस ओवरब्रिज से नदी में पानी का बहाव, बारिश, आंधी, तूफान सहित किसी भी प्रकार की बाधा में आवागमन में रोड़ा नहीं बनेगा।

2019 में शुरू हुआ कार्य, जोधपुर के सभी जिलों से पीडब्लूडी चीफ इंजीनियर की निगरानी में तैयार हो रहे हाईवे व ओवरब्रिज को लेकर बताया कि वर्ष 2019 में शुरू हुआ हाईवे का कार्य सिवाना, से करमावास, बालेसर से मोखंडी तक पूरी तरह से तैयार हो गया है।

वहीं, करमावास से पेट्रोल पंप के नजदीक से खेतों के बीच में निकलकर ब्रिज को पार करते हुए समदड़ी हाईवे टच तक का कार्य अंतिम पड़ाव पर है, जिसे जल्द पूर्ण कर लिया जाएगा। हाईवे के बीच में दवेड़ा के नजदीक टोल प्लाजा लगेगा। हाईवे के बनने से ट्रेफिक के साथ ग्रेनाइट एवं माइंस के लिए आवागमन करने वाले वाहनों का जोधपुर संभाग के सभी जिलों से सीधा जुड़ाव हो जाएगा।

कम समय में लंबी दूरी

सभी जिलों से जुड़ाव होने से कम समय में लंबी दूरी तय होगी, इससे व्यापार में वृद्धि आएगी। आरएलडीपीएल कंपनी की ओर से पूरा कार्य इंजीनियरों की देखरेख में किया जा रहा है। 5 साल तक कंपनी का मेंटेनेंस का जिम्मा रहेगा। कोविड के कारण 5 माह तक काम बंद रहने के कारण थोड़ा समय के लिए काम अटक गया था। वहीं, किसानों की जमीन का मुआवजा नहीं मिलने के कारण इनके विरोध का भी सामना करना पड़ा था।

आपकी राय

क्या मायावती का यूपी चुनावों में हार के लिए मुस्लिम वोटों को जिम्मेदार ठहराना सही है?

View Results

Loading ... Loading ...

Get in Touch

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Related Articles

Latest Posts