Saturday, October 1, 2022

आदिवासियों को लुभाने में जुटी BJP- congress JP Nadda के ST सम्मेलन के बाद, काग्रेंस लगाएगी राणा पूंजा की प्रतिमा

राजस्थान विधानसभा चुनावों (rajasthan assembly election) में अभी एक साल से भी ज्यादा का समय बाकी है लेकिन सियासी दलों की कवायदें शुरू हो गई हैं। जहां एक तरफ नेताओं के मिलने का सिलसिला चल रहा है तो वहीं दूसरी ओर कांग्रेस और बीजेपी (congress-bjp) दोनों ही अपना वोट बैंक साधने के लिए नए-नए हथकंडे अपना रहे है। इसी कड़ी में शुरूआत आदिवासियों (tribal vote bank) से हुई है जहां बीजेपी और कांग्रेस दोनों ही यहां अपना वोट बैंक तलाश रही है।बता दें कि हाल में बीजेपी के राष्ट्री य अध्यक्ष जेपी नड्डा (jpnadda) ने एसटी मोर्चे के सम्मेलन में भाग लिया था जिसके बाद अब कांग्रेस राणा पूंजा भील (rana poonja bheel) की डूंगरपुर (dungarpur) जिले में प्रतिमा स्थापित करने पर जोर दिया है. इससे पहले विश्व आदिवासी दिवस पर राज्य में सार्वजनिक अवकाश
घोषित करने के बाद अब गहलोत सरकार आदिवासी बाहुल्य जिले डूंगरपुर में राणा पूंजा भील की बहुप्रतिक्षित प्रतिमा स्थापित करवाने जा रही है. बता दें कि राजस्थान के आदिवासियों यह काफी लंबे समय की मांग थी.कांग्रेस की परंपरागत वोट बैंक पर नजर बता दें कि यूथ कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष गणेश घोघरा राणा पूंजा भील की प्रतिमा स्थापित करने का मुद्दा काफी लंबे समय से उठा रहे थे. वहीं कांग्रेस आदिवासियों की इस मांग को पूरा कर अपने रपरंपरागत वोट बैंक को बरकरार रखना चाहती है. बता दें कि पिछले चुनावों में बीटीपी ने कांग्रेस के इस वोटबैंक में सेंध लगाई थी.हाल में डूंगरपुर शहर के सदर थाना चौराहे पर राणा पूंजा भील की प्रतिमा स्थापित करने को लेकर विधानसभा में शिक्षा मंत्री बीडी कल्ला ने घोषणा की थी जिसके बाद विधायक गणेश घोघरा हाल में इस संबंध में डूंगरपुर जिला कलेक्टर से मिलने भी गए थे. आदिवासी वोटों की चुनावों में निर्णायक भूमिका बता दें कि राजस्थान में आदिवासी वोट कांग्रेस के लिए चुनावों में काफी अहम है. राज्य में जब कांग्रेस की सरकार बनती है तो आदिवासी समुदाय के वोट निर्णायक रोल निभाते हैं. होतीहै। वहीं कांग्रेस पार्टी वांगड़ और मेवाड़ में राणा पूंजा भील की डूंगरपुर में प्रतिमा स्थापित करने के बाद भारतीय ट्रा इबल पार्टी (बीटीपी) का खेल बिगाड़ने की कोशिश कर रही है. मालूम
हो कि आदिवासी इलाकों में बीटीपी का प्रभाव तेजी से बढ़ रहा है.

आपकी राय

क्या मायावती का यूपी चुनावों में हार के लिए मुस्लिम वोटों को जिम्मेदार ठहराना सही है?

View Results

Loading ... Loading ...

Get in Touch

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Related Articles

Latest Posts