Monday, September 26, 2022

Rajasthan: जयपुर, भरतपुर संभाग के कई जिलों में आंधी चली, 10MM तक हुई बरसात

45 डिग्री सेल्सियस की तेज गर्मी से तप रहे राजस्थान में आज सुबह की शुरुआत आंधी-बारिश के साथ हुई। अलवर, भरतपुर, जयपुर, दौसा, करौली, धौलपुर समेत पूर्वी राजस्थान के कई इलाकों में आज बारिश हुई। पिछले 12 घंटे के दौरान करौली, अलवर, दौसा, झुंझुनूं के कई इलाकों में 10MM तक बरसात रिकॉर्ड हुई। मौसम में आए इस बदलाव से रात का तापमान 20 डिग्री सेल्सियस से भी नीचे चला गया। इससे पहले 22 मई को जैसलमेर में 45 डिग्री तापमान रिकॉर्ड किया गया था।

राजधानी जयपुर में भी सुबह से आसमान में बादल छाए हुए हैं। रुक-रुक कर बारिश होती रही। आसमान में धूल का गुबार उठने से जयपुर सुबह से ही आसमान मटमैला दिखाई दिया। वहीं, तापमान में भी कमी रही। इससे लोगों को गर्मी से राहत मिली। मौसम केंद्र जयपुर और जलसंसाधन विभाग से मिली रिपोर्ट देखें तो पिछले 12 घंटे के अंदर सबसे ज्यादा बारिश झुंझुनूं के पिलानी में 11MM हुई।

इसके अलावा चिड़ावा में 8, सूरजगढ़ में 10, बुहाना में 5, उदयपुरवाटी और खेतड़ी में 3-3, मंडावा और बस्वा में 2-2MM बरसात दर्ज हुई। दौसा के महुवा में कल देर शाम से सुबह तक 10MM बरसात हुई। करौली के हिंडौन और अलवर के टपूकड़ा में 9-9 MM बरसात दर्ज हुई। वहीं दौसा, अलवर समेत कई जगहों पर 50KM स्पीड से तेज आंधी चली।

रात का तापमान 20 डिग्री सेल्सियस से नीचे आया मौसम केंद्र जयपुर के मुताबिक बारिश-आंधी के बाद बीती रात कई शहरों में तापमान 21 से लेकर 29 डिग्री सेल्सियस के बीच रिकॉर्ड हुआ। सबसे कम तापमान झुंझुनूं के पिलानी में 18.3 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड हुआ। वहीं, चूरू में 22.6, हनुमानगढ़ में 21.6, अलवर में 21.1 डिग्री सेल्सियस तापमान दर्ज हुआ।

कल कोटा संभाग के जिलों में भी हो सकती है बारिश

मौसम केन्द्र जयपुर के निदेशक राधेश्याम शर्मा ने बताया कि प्रदेश में पूर्वी राजस्थान के जयपुर, भरतपुर संभाग के अलावा आज देर शाम और 24 मई को कोटा संभाग के जिलों में भी आंधी-बारिश हो सकती है। हालांकि पश्चिमी राजस्थान के बीकानेर संभाग के केवल उत्तरी भागों में ही इसका असर रहेगा। 25 और 26 मई से राज्य में तापमान में 2 से 3 डिग्री सेल्सियस की बढ़ोतरी होने से मई के आखिरी सप्ताह में हीटवेव चलने की संभावना है।

आपकी राय

क्या मायावती का यूपी चुनावों में हार के लिए मुस्लिम वोटों को जिम्मेदार ठहराना सही है?

View Results

Loading ... Loading ...

Get in Touch

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Related Articles

Latest Posts