Saturday, October 1, 2022

Rajasthan Rajya Sabha Election 2022: राज्यसभा चुनाव को लेकर बीजेपी से बड़ी खबर, घनश्याम तिवाड़ी होगे बीजेपी के उम्मीदवार

राजस्थान राज्यसभा चुनाव को लेकर भाजपा से बड़ी खबर सामने आई हैं, घनश्याम तिवाड़ी बीजेपी से राज्यसभा के उम्मीदवार होंगे। एक वरिष्ठ नेता के आवास पर घनश्याम तिवाड़ी का फॉर्म भरवाया जा रहा हैं। आपको बता दें कि 24 मई को नामांकन प्रक्रिया शुरू हुई थी और 27 मई तक किसी ने नामांकन दाखिल नहीं किया। अब आज और रविवार के अवकाश की वजह से 28 और 29 मई को आवेदन दाखिल नहीं होंगे। आवेदन की अंतिम तिथि 31 मई है। ऐसे में प्रत्याशियों के पास अब केवल 2 दिन का समय शेष बचा है। ऐसा लगता है कि अंतिम दिन 31 मई को ही प्रत्याशियों के नाम नामांकन दाखिल होंगे।

राजस्थान 4 की राज्यसभा सीटों के लिए हो रहे चुनाव के लिए बीजेपी ब्राह्मण चेहरे पर दांव खेल सकती है। पूर्व मंत्री घनश्याम तिवाड़ी राज्यसभा के उम्मीदवार हो सकते हैं। घनश्याम तिवाड़ी के नाम पर सहमति बन गई है। आधिकारिक ऐलान होना है। बीजेपी ने जयपुर में कांग्रेस के ब्राह्मण चेहरे महेश जोशी की काट में घनश्याम तिवाड़ी का राज्यसभा का उम्मीदवार बनाने का फैसला लिया है। राजस्थान की सियासत में घनश्याम तिवाड़ी पूर्व सीएम वसुंधरा राजे सिंधिया के धुर विरोधी माने जाते हैं। तिवाड़ी ने वसुंधरा की वजह के बीजेपी छोड़कर अलग पार्टी बनाई थी। फिर कांग्रेस में शामिल हो गए थे, लेकिन बाद में बीजेपी में शामिल हो गए। राज्यसभा की 4 में से 2 सीटों पर कांग्रेस और एक सीट पर बीजेपी की जीत तय है।

पूर्व मंत्री घनश्याम तिवाड़ी बीजेपी छोड़ने के बाद भी आरएसएस की विचारधारा से जुड़े रहे। तिवाड़ी की उम्मीदवारी से माना जा रहा है कि राजस्थान की राजनीति में वसुंधरा विरोधी खेमा मजबूत हो रहा है। 12 दिसंबर 2020 को बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनिया की उपस्थिति में घनश्याम तिवाड़ी ने पार्टी की सदस्यता ग्रहण की थी। विधानसभा चुनाव से ठीक पहले तिवाड़ी कांग्रेस में शामिल हो गए थे। घनश्याम तिवाड़ी राजस्थान के दिग्गज नेताओं में शुमार रहे हैं। भैरोंसिंह शेखावत सरकार में अहम मंत्रालयों की जिम्मेदारी संभाली है।

कांग्रेस 3 प्रत्याशी मैदान में उतारेगी, जबकि बीजेपी 2 प्रत्याशियों को मैदान में उतारने के बाद कह रही है। हालांकि विधानसभा सदस्यों की संख्या के लिहाज से यह तय है कि 4 सीटों में से 2 सीटों पर कांग्रेस और एक सीट पर भाजपा प्रत्याशी की जीत होना तय है। बीजेपी की ओर से 2 प्रत्याशी मैदान में उतारने पर चौथी सीट के लिए उठापटक होने की संभावना है। राज्यसभा सांसद ओम प्रकाश माथुर, केजे अल्फोंस, रामकुमार वर्मा और हर्षवर्धन सिंह डूंगरपुर का कार्यकाल 4 जुलाई को पूरा होने जा रहा है। यह चारों भाजपा से हैं। नए सदस्यों के लिए 10 जून को मतदान होना है जिसकी चुनाव प्रक्रिया जारी है।

आपकी राय

क्या मायावती का यूपी चुनावों में हार के लिए मुस्लिम वोटों को जिम्मेदार ठहराना सही है?

View Results

Loading ... Loading ...

Get in Touch

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Related Articles

Latest Posts