Monday, September 26, 2022

Rajasthan: जोधपुर में धर्मांतरण की कोशिश पर मचा बवाल, हिंदू संगठनों ने थाने में किया हनुमान चालीसा पाठ

राजस्थान के जोधपुर (jodhpur) जिले से एक धर्मांतरण का मामला सामने आने के बाद बवाल मच गया. मिली जानकारी के मुताबिक सोमवार देर रात तमिलनाडु से जोधपुर आए पति-पत्नी पर धर्मांतरण ( conversion) का आरोप लगाते हुए कुछ हिंदू संगठन (hindu organisations) पुलिस थाने के बाहर जमा हो गए और विरोध प्रदर्शन शुरू कर दिया.

वहीं पुलिस से कार्रवाई की मांग करते हुए संगठन के लोगों ने थाने में ही हनुमान चालीसा का पाठ करना शुरू कर दिया. देर रात लोगों का विरोध बढ़ता देखकर जोधपुर पुलिस ने तमिलनाडु से आए पादरी दंपत्ति को शांतिभंग के आरोप में गिरफ्तार किया. बताया जा रहा है कि पूरा मामला जिले के कुड़ी भगतासनी क्षेत्र में है जहां कथित धर्मांतरण की कोशिश का आरोप लगा है. हालांकि इस मामले में पुलिस का कहना है कि किसी भी तरह का धर्मांतरण नहीं हुआ है.

दंपत्ति पर आरोप लगा है कि वह कई दिनों से धर्म परिवर्तन के लिए लोगों को प्रेरित कर रहे हैं और बीते रविवार को इलाके में प्रभु यीशु की प्रार्थना का आयोजन और भोज किया गया और धर्मांतरण से जुड़ी प्रक्रियाएं की गई.

मजदूरों के बनाया जा रहा है निशाना: वीएचपी

वहीं इस मामले पर विश्व हिंदू परिषद के महानगर अध्यक्ष संजय अग्रवाल का कहना है कि क्षेत्र में बड़ी संख्या में बाहर के मजदूर काम करते हैं जिनको लगातार दूसरे धर्म के लोग निशाना बना रहे हैं. अग्रवाल का कहना है कि हमें कई परिवारों के ईसाई बनने की जानकारी मिली है और क्षेत्र में धर्मांतरण करवाकर हिंदू धर्म की नकारात्मक छवि बनाने का काम किया जा रहा है.

बता दें कि इस पूरी घटना के बाद स्थानीय निवासी कैलाश वैष्णव ने हिंदू भावनाओं को ठेस पहुंचाने और धर्मांतरण को लेकर कुड़ी भगतासनी थाने में एक मामला भी दर्ज करवाया है.

धर्म परिवर्तन जैसा नहीं है मामला: पुलिस

थानाधिकारी सुमेरदान ने बताया कि तमिलनाडु से जोधपुर आए सैम राजा और उनकी पत्नी कुड़ी सेक्टर 2 में एक महिला और उसके बेटे को को खाना खिला रहे थे जहां पहुंचे हिंदू संगठनों ने पादरी दंपत्ति पर महिला के बेटे के धर्मांतरण का आरोप लगाया. थानाधिकारी के मुताबिक पादरी पति-पत्नी को शांतिभंग के आरोप में गिरफ्तार किया गया है.

पुलिस का कहना है कि कुड़ी भगतासनी के आसपास बड़ी संख्या में यूपी और बिहार के मजदूर परिवार रहते हैं जो आसपास की के फैक्ट्रियों में काम कर अपनी रोजी-रोटी कमाते हैं. आरोप है कि ऐसे ही परिवारों को धर्मांतरण का निशाना बनाया जा रहा है.

आपकी राय

क्या मायावती का यूपी चुनावों में हार के लिए मुस्लिम वोटों को जिम्मेदार ठहराना सही है?

View Results

Loading ... Loading ...

Get in Touch

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Related Articles

Latest Posts