Monday, September 26, 2022

अच्छी पहल! झुग्गी-झोपड़ियों में रहने वाले लोग भी पी सकें ठंडा पानी, रहमान ने शुरू की ‘फ्री फ्रिज’ सर्विस

इसबार रिकॉर्ड तोड़ गर्मी पड़ रही है. ऐसे में कोलकाता में भी टेम्प्रेचर 40 डिग्री तक पहुंच गया है. लेकिन  कोलकाता के एक निवासी ने इस भरी गर्मी में सबको ठंडक दिलाने के लिए एक पहल शुरू की है. इसके तहत सेंट्रल कोलकाता के सबसे बिजी इलाके अलीमुद्दीन स्ट्रीट के लोगों को ठंडा पानी मिल रहा है. इसके लिए स्थानिय निवासियों ने सभी के लिए एक फ्रिज रखा है, जिससे कोई निकालकर भी ठंडा पानी पी सकता है.

40 बोतल रखी जा सकती हैं फ्रिज में

आपको बता दें, अलीमुद्दीन स्ट्रीट की गली में 500 मिलीलीटर की 40 बोतलें रखने के लिए एक फ्रिज रखा गया है. इस क्षेत्र में एक तरफ एक झुग्गी है और दूसरी तरफ मिडिल क्लास लोग रहते हैं.सामाजिक कार्यकर्ता तौसीफ रहमान ने इस फ्रिज को रखा है. यहां स्थानीय लोग लेकर अपनी बोतलें रख रहे हैं. हालांकि, स्थानीय लोगों और रहमान का कहना है कि ये केवल स्थानीय लोगों के लिए ही नहीं है बल्कि इस इलाके से गुजरने वाला कोई भी व्यक्ति इससे पानी पी सकता है.

सबको ठंडा पानी मिले

रहमान कहते हैं, “एक फ्रिज आपके और मेरे लिए एक बहुत ही सामान्य बात हो सकती है लेकिन एक व्यक्ति के लिए जो 4000-5000 रुपये प्रति माह कमाता है और 4 सदस्यों के साथ 150 वर्ग फुट के कमरे में रहता है, यह एक मुश्किल चीज़ है. इसका मुख्य उद्देश्य ठंडा पानी देना है, हर उस इंसान को जिसे पानी की जरूरत है.” 

सभी नहीं उठा सकते हैं फ्रिज का खर्चा

लोकल में रहने वाली ज़ुलेखा कहती हैं कि इलाके के बहुत से लोग फ्रिज का खर्च नहीं उठा सकते हैं, लेकिन इस तरह की पहल से स्थानीय लोगों को मदद मिलती है. उन्होंने आगे कहा, “किसी को भी किसी की बोतल से पीने में कोई समस्या नहीं है, भले ही बोतलों पर लोग अपना नाम लिख सकते हैं.” 

बिजली बिल कौन भर रहा है?

फ्रिज की बिजली और रखरखाव का भुगतान कौन करता है? इसपर रहमान कहते हैं कि वह खुशी-खुशी बिल भरेंगे. रहमान ने कहा, “ज्यादा से ज्यादा इसका बिल 600-700 रुपये प्रति माह आएगा. लेकिन इसके बदले में जो आशीर्वाद मिलेगा वो इस पैसे से कई अधिक है. मैं खुशी से भरने के लिए तैयार हूं.”

यह भी पढ़े

हेल्थ सिस्टम पर सवाल! धौलपुर अस्पताल में हुई मौत वाहन नहीं मिला तो पिता कंधे पर ले गया मासूम का शव

आपकी राय

क्या मायावती का यूपी चुनावों में हार के लिए मुस्लिम वोटों को जिम्मेदार ठहराना सही है?

View Results

Loading ... Loading ...

Get in Touch

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Related Articles

Latest Posts