Sunday, September 25, 2022

राजस्थान में अगर बीजेपी की सरकार बनी तो हटवा देंगे धार्मिक स्थलों से लाउडस्पीकर: सतीश पुनिया

उत्तर प्रदेश में लाउडस्पीकर बैन होने के बाद इसकी चर्चा लगातार बनी हुई है. राजस्थान भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष सतीश पुनिया सोमवार को भोपाल पहुंचे. यहां पुनिया ने लाउडस्पीकर को लेकर बड़ा ऐलान किया है. पुनिया ने कहा कि अगले विधानसभा चुनावों में अगर भाजपा की सरकार बनेगी तो राजस्थान में भी लाउडस्पीकर उतरवा दिए जाएंगे. सोमवार को भोपाल आए सतीश पुनिया का स्वागत करने मप्र सरकार के कृषि मंत्री कमल पटेल कार्यकर्ताओं के साथ स्टेशन पहुंचे थे.

सतीश पुनिया नर्मदा परिक्रमा यात्रा विश्राम कार्यक्रम में पहुंचे. इसके बाद पूनिया ने सीहोर जिले में आंवली घाट पर महामंडलेश्वर ईश्वरानंद महाराज का आर्शीवाद लिया. इसके बाद पुनिया ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से मुलाकात की. मुलाकात के दौरान भाजपा के राष्ट्रीय महामंत्री कैलाश विजयवर्गीय और मप्र भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष विष्णु दत्त शर्मा मौजूद रहे.

कांग्रेस सरकार पर जमकर हमला बोला
मप्र सरकार के मंत्री कमल पटेल के साथ सतीश पुनिया ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की. इसमें पूनिया ने लाउडस्पीकर को लेकर बड़ा ऐलान किया है. पुनिया ने कहा कि अगले विधानसभा चुनावों में अगर हमारी सरकार आती है तो राजस्थान में भी लाउडस्पीकर उतरवा लिए जाएंगे. इसके साथ ही पुनिया राजस्थान की गहलोत सरकार पर जमकर बरसे. पुनिया ने कहा कि अब राजस्थान में कांग्रेस की कभी भी वापसी नहीं होगी. उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने चुनावी वादों को पूरा नहीं किया है.

बेरोजगारों को भत्ता देने वाला चुनावी दावा अब केवल कागजी बन गया है. 30 लाख युवाओं को यह भत्ता देने का वादा था. वहीं अभी केवल 4 लाख 11 हजार युवाओं को ही इसका लाभ मिल रहा है. इसके साथ ही पूनिया ने कहा कि कांग्रेस तुष्टिकरण की राजनीति कर रही है. करौली समेत अन्य जिलों में हुई कम्यूल मामलों को लेकर भी कांग्रेस को जिम्मेदार ठहराया है. पूनिया ने कहा कि राजस्थान में अशोक गहलोत कांग्रेस के बहादुरशाह जफर साबित होंगे.

पुनिया के बयान पर कमलनाथ का पलटवार
वहीं सतीश पुनिया के बयान के बाद मप्र कांग्रेस के अध्यक्ष कमलनाथ ने भी प्रतिक्रिया दी है. कमलनाथ ने इसको लेकर कहा कि लाऊडस्पीकर एक निजी मामला है. इसे पब्लिक मुद्दा बनाना ठीक नहीं है. भोपाल में कमल नाथ ने कहा कि छोटी सभा होती है तो लाऊडस्पीकर लगता है लेकिन अगर लाऊडस्पीकर भड़काने वाला हो तो कार्रवाई होनी चाहिए.

यह भी पढ़े

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने की जनता से अपील, संकट की इस घड़ी में बिजली-पानी बचाएं

आपकी राय

क्या मायावती का यूपी चुनावों में हार के लिए मुस्लिम वोटों को जिम्मेदार ठहराना सही है?

View Results

Loading ... Loading ...

Get in Touch

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Related Articles

Latest Posts