Saturday, October 1, 2022

जयपुर जेल से शुरू हुई थी सिद्धू मूसेवाला हत्याकांड की प्लानिंग

पंजाबी सिंगर मूसेवाला की हत्या की साजिश के तार राजस्थान से जुड़ रहे हैं। सिद्धू​​​ के मर्डर की प्लानिंग लॉरेंस बिश्नोई और गोल्डी बरार ने 8 महीने पहले ही कर ली थी। कुख्यात गैंगस्टर लॉरेंस ने जयपुर जेल से ही मूसेवाला को पहली धमकी दी थी।

दरअसल लॉरेंस, विक्रमजीत सिंह उर्फ विक्की मिद़दुखेड़ा और गोल्डी कॉलेज के दोस्त थे। मोहाली के सेक्टर 71 में 7 अगस्त 2021 को अकाली नेता विक्की मिड्ढूखेड़ा की दो शूटर ने हत्या कर दी थी। इसके बाद से ही लॉरेंस और बरार अपने दोस्त की मौत का बदला लेने की प्लानिंग कर रहे थे।

जयपुर जेल से सिंगर सिद्धू को दी थी मारने की धमकी

लॉरेंस बिश्नोई के फेसबुक पेज से सिंगर सिद्धू मूसेवाला की हत्या की जिम्मेदारी लेते हुए पोस्ट जारी की गई। जिसमें लिखा था…

राम राम भाई सबको…आज जो सिद्धू मूसेवाला का कत्ल हुआ है, उसकी जिम्मेदारी मैं और मेरा भाई गोल्डी बरार लेता है। लोग हमें…जो भी कहें लेकिन इसने हमारे भाई विक्की मिड्डूखेड़ा की हत्या में मदद की थी। हमने अपने भाई का बदला ले लिया है।

मैंने इसे जयपुर से कॉल करके कहा था कि तुमने गलत किया है, इसने मुझे कहा था कि मैं किसी की परवाह नहीं करता। तुम जो कर सकते हो कर लो। मैं भी हथियार लोड करके रखता हूं। और आज हमने अपने भाई विक्की का इंसाफ ले लिया है।

ये तो अभी शुरुआत है…जो भी इस कत्ल में शामिल थे, वे तैयार रहें…आज हमने सबके भ्रम दूर कर दिए हैं. जय… बलकारी…

लॉरेंस बिश्नोई की फेसबुक पोस्ट

लॉरेंस उस दौरान दिल्ली की तिहाड़ जेल में बंद था। विक्की की हत्या के करीब एक माह बाद 25 सितंबर को जयपुर पुलिस जवाहर नगर में एक बिल्डर से एक करोड़ की फिरौती मांगने के मामले में लॉरेंस को प्रोडक्शन वारंट पर जयपुर लाई थी। पूछताछ के बाद उसे जयपुर जेल भेज दिया गया था।

मामले में जेल आईजी विक्रमसिंह का कहना है जयपुर जेल में लॉरेंस और उसके साथियों के पास मोबाइल नहीं थे। अभी लॉरेंस के नाम से सोशल मीडिया पर जो पोस्ट अपलोड की गई है, वो फर्जी भी हो सकती है। ऐसी पोस्ट उसके कई फॉलोअर्स करते रहते हैं।

जेल आईजी से बात करने के बाद भास्कर ने मामले की पड़ताल की तो सामने आया कि सिर्फ जयपुर ही नहीं जोधपुर, अजमेर सहित देश की कई जेलों में लॉरेंस का नेटवर्क है। यहां उसके कई गुर्गे हैं जो एक इशारे पर किसी की भी हत्या काे तैयार हो जाते हैं।

जेल से अपलोड करता फोटो
30 साल की उम्र में गैंगस्टर लॉरेंस ने पांच राज्यों में गैंग बना ली। लॉरेंस का नेटवर्क थाईलैंड, यूके, कनाडा तक फैला है। इसी नेटवर्क के जरिए उसने पंजाबी सिंगर सिद्धू मूसेवाला को मारने के लिए रशियन असॉल्ट एन-94 राइफल इंडिया में मंगवाई थी।

इतने बड़े नेटवर्क को बनाने की शुरुआत लॉरेंस ने छात्र राजनीति से ही कर दी। युवाओं को अपनी तरफ आकर्षित करने के लिए लॉरेंस खुद को शहीद भगत सिंह की तरह क्रांतिकारी प्रोजेक्ट करता। लॉरेंस स्टूडेंट ऑर्गेनाइजेशन ऑफ पंजाब यूनिवर्सिटी (SOPU) से जुड़ गया और कई युवाओं को भी इससे जोड़ा।

लॉरेंस की जब अपराध की दुनिया में एंट्री हुई तो उसने जेलों को अपना सेफ हाउस बना लिया। जेल से अपने फोटो और क्रांतिकारी पोस्ट सोशल मीडिया पर डालकर लाखों फॉलोअर्स बना लिए। लॉरेंस युवाओं को लग्जरी लाइफ जीने के सपने दिखाकर गैंग में शामिल करता है।

राजस्थान की जोधपुर, अजमेर और जयपुर जेल में उसने गैंग का पूरा नेटवर्क बना लिया था। युवाओं को अपनी तरफ आकर्षित करने के लिए उसने हिरण शिकार मामले के आरोपी रहे बॉलीवुड एक्टर सलमान खान को मारने की धमकी दी थी। इससे सलमान खान से नाराज कई युवा भी उसके फॉलोअर्स बन गए।

राजस्थान चुनाव 2023 ओवैसी की मुस्लिम वोट बैंक पर नजर, एआईएमआईएम की एंट्री बढ़ा सकती हैं कांग्रेस की मुश्किलें

आपकी राय

क्या मायावती का यूपी चुनावों में हार के लिए मुस्लिम वोटों को जिम्मेदार ठहराना सही है?

View Results

Loading ... Loading ...

Get in Touch

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Related Articles

Latest Posts