Monday, September 26, 2022

सिरोही में एक और बच्चे ने तोड़ा दम, अब तक 8 की मौत, नहीं खुल रहा अज्ञात बीमारी का रहस्य

राजस्थान के सिरोही में बीते कुछ दिनों से बच्चों की मौत का सिलसिला जारी है. शुक्रवार की शाम एक और बच्चे ने इलाज के दौरान दम तोड़ दिया है. यहां बच्चों की मौत का आंकड़ा 8 पहुंच गया है. हालांकि चिकित्सा विभाग स्थिति कंट्रोल करने का दावा कर रहा है. लेकिन अभी तक बीमारी के कारणों का पता नहीं चल पाया है. बीमारी का पता लगाने के लिए चिकित्सकों की टीम लगातार जांच कर रही है. अब तक करीब 500 से ज्यादा लोगों के सैंपल लिए जा चुके हैं.

लेकिन अभी तक बीमारी का खुलासा नहीं हो पाया है. बता दें कि बीते दिनों स्वरूपगंज के फूलाबाई खेड़ा गांव में अज्ञात बीमारी से 8 बच्चों की मौत हो गई है. इसको लेकर स्वास्थ्य विभाग की टीम लगातार जांच में लगी है. जानकारी के मुताबिक लिक्विड फूड भी बच्चों की मौत का कारण हो सकता है. लेकिन अभी पुष्टि नहीं होने के कारण संपूर्ण गांव में 500 से ज्यादा लोगों के सैंपल लिए गए हैं. वर्तमान में 3 बच्चों को संक्रमण के लक्षण को देखते हुए चयनित किए गया है. इन बच्चों को उपचार के लिए मेडिकल रिसर्च सेंटर में भेजा गया है. जहां इनका इलाज किया जा रहा है.

टीमें कर रही सर्वे
बता दें कि जिस प्रकार पॉइजनिंग के कई किस्से राजस्थान में सुने हैं लेकिन उनके लक्षणों को चिन्हित करके ऐसे व्यापारियों पर लगान लगाने में चिकित्सा महकमा नाकाम साबित हो रहा है. सिरोही में हुई एसीबी की फूड इंस्पेक्टर पर कार्रवाई के बाद अब सवाल उठना लाजिमी है.

क्योंकि बिना सैंपल के किस की जांच करें. साथ ही लगातार संक्रमण फैलने का खतरा भी अभी बरकरार होने की आशंका जताई जा रही है. वर्तमान में सिरोही में जोधपुर डिवीजन और जयपुर डिवीजन की 7 टीमों ने फूलाबाई खेड़ा में जाकर घरों के सर्वे करके लोगों के सैंपल जुटाए हैं. लेकिन बीमारी का पता लगाने में अभी भी कोसों दूर हैं. जिससे ग्रामीणों में अभी भी अपने परिवार जनों को लेकर एक डर का माहौल बना हुआ है.

सिरोही में 8 बच्चों की मौत से पसरा मातम
बता दें कि राजस्थान के सिरोही जिले के स्वरूप गंज में 6 दिनों में 8 बच्चों ने दम तोड़ दिया. इनमें से 3 बच्चे एक ही घर के बताए जा रहे हैं. यहां बच्चों की मौत के बाद मातम पसरा हुआ है. वहीं बीमारी के बारे में जानकारी ना मिल पाने के कारण यहां के लोग दहशत में हैं. वहीं 4 बच्चों में संक्रमण पाया गया है. इसको लेकर स्वास्थ्य विभाग में हड़कंप की स्थिति है.

चिकित्सा टीम जांच में जुटी है. हालांकि चिकित्सा विभाग ने लिक्विड फूड प्वाइजनिंग की बात की आशंका जताई जा रही है जिसको लेकर स्थानीय स्तर पर आइसक्रीम के पार्लर पानी से बनी हुई पेप्सी इन सारी चीजों को रोक लगा दी गई है. लेकिन फिर भी अवैध तरीके से लिक्विड फूड के नाम पर पूरे जिले में बिक पेप्सी बिक रही है.

ईस्टर्न राजस्थान कैनाल प्रोजेक्ट पर शेखावत-गहलोत के बीच बयानबाज़ी जारी, केंद्रीय मंत्री ने राजस्थान के मुख्यमंत्री को कही यह बात

आपकी राय

क्या मायावती का यूपी चुनावों में हार के लिए मुस्लिम वोटों को जिम्मेदार ठहराना सही है?

View Results

Loading ... Loading ...

Get in Touch

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Related Articles

Latest Posts