Monday, September 26, 2022

Rajasthan Breaking News: जयपुर में कोविड सहायकों का धरना 53वें दिन भी जारी, आज पीसीसी पहुंच कर दी आत्महत्या की चेतावनी

राजस्थान की इस वक्त की बड़ी खबर में आपको बता दें कि कोविड काल में सविंदा पर नौकरी लगने और कोरोना खत्म होने के बाद हटाए गए कोविड स्वास्थ्य सहायकों ने दोबारा नौकरी पर रखने की मांग करते हुए बड़ा आंदोलन शुरू कर दिया है। संविदा कैडर में नौकरी लगाने की मांग को लेकर कोविड स्वास्थ्य सहायकों ने पिछले 53 दिनों से जयपुर के शहीद स्मारक पर धरना दे रखा है। आज प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय जयपुर में हुई जनसुनवाई के दौरान इनका प्रतिनिधि मंडल जब वहां पहुंचा तो उन्होंने कैबिनेट मंत्री के सामने ही आत्महत्या करने की धमकी दे डाली है।

पीसीसी में कैबिनेट मंत्री शाले मोहम्मद और हेमाराम चौधरी के समक्ष अपनी व्यथा सुनाने पहुंचे इन लोगों ने कहा कि सरकार पिछले डेढ़ महीने से हमारी बात नहीं सुन रही। हम लगातार शांतिपूर्वक आंदोलन कर रहे है। हम वहीं है जिनकी वजह से कोरोनाकाल के दौरान लाखों लोगों की जान बची थी और राजस्थान काेविड मैनेजमेंट में पूरे देश में नंबर वन स्टेट बना था। आज जब सरकार का काम निकल गया तो हमें भी बेरोजगार कर दिया है।

उन्होंने कहा कि हमे नियमित नहीं तो कम से कम संविद कैडर पर नौकरी पर लगाया जाए, ताकि हमारा परिवार का हम भरण-पोषण कर सके। इस दौरान वहां मौजूद तो यहां तक कह दिया कि अगर सरकार हमारी सुनवाई नहीं करेगी तो हम यहीं आंदोलन करते-करते मर जाएंगे या सुसाइड कर लेंगे, लेकिन अब बिना नौकरी लिए वापस घर नहीं लौटेंगे।

आपको बता दें कि कोरोना काल के दौरान प्रदेशभर में 28 हजार कोविड स्वास्थ्य सहायकों की नियुक्ति की थी, जिन्हें कोरोना मरीजों के उपचार के साथ घर-घर जाकर दवाई पहुंचाने, सैंपल लेने की भी जिम्मेदारी दी गई थी। इस साल 31 मार्च को कोविड स्वास्थ्य सहायकों का कॉन्ट्रैक्ट खत्म होने के बाद सरकार ने सभी को नौकरी से हटाने का आदेश जारी कर दिया। इस आदेश के बाद से प्रदेश में सभी कोविड स्वास्थ्य सहायकों ने विरोध प्रदर्शन शुरू कर दिया है।

आपकी राय

क्या मायावती का यूपी चुनावों में हार के लिए मुस्लिम वोटों को जिम्मेदार ठहराना सही है?

View Results

Loading ... Loading ...

Get in Touch

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Related Articles

Latest Posts