Monday, September 26, 2022

आग की लपटों के बीच दौड़ते जयपुर पुलिस के 2 कांस्टेबल ने 6 लोगो को जिंदा निकला

राजधानी जयपुर के विद्याधर नगर इलाके में शनिवार को एक बिल्डिंग के बेसमेंट में भयंकर आग लग  गई जिसमें 6 लोग फंस गए जिन्हें जयपुर पुलिस  के दो कॉन्स्टेबलों ने अपनी जान की बाजी लगाकर बचाया. मालूम हो कि हाल में हुए करौली दंगे के बाद मासूम की जान बचाने वाले कांस्टेबल नेत्रेश शर्मा चर्चा में आए थे और अब आग लगने की इस घटना के बाद दो और कांस्टेबल चर्चा में है. दरअसल विद्याधर नगर  थाने के 2 कॉन्स्टेबलों ने अपनी जान की बाजी लगाकर आग में फंसे लोगों को बचाने का काम किया. दोनों कॉन्स्टेबलों ने बिल्डिंग के दो फ्लैट में धुएं के तड़प रहे लोगों को गेट तोड़कर जिंदा बाहर निकाला. कॉन्स्टेबलों ने आग में फंसे हुए लोगों को पहले बालकनी में पहुंचया फिर क्रेन की मदद से बाहर सुरक्षित निकाला.

मिली जानकारी के मुताबिक विद्याधर नगर में स्थित सिनेस्टार बिल्डिंग के बेसमेंट में एक जूते-चप्पल के गोदाम में सुबह करीब 10:30 बजे आग लग गई जहां रबर, फाइबर और लैदर होने के कारण कुछ ही मिनटों में आग ने विकराल रूप धारण कर लिया. कुछ ही देर में आसमान में काले धुएं का गुब्बार आ गया. वहीं आग लगने के बाद आसपास के इलाके में अफरातफरी मच गई और बिल्डिंग के ऊपर बने फ्लैट में रहने वाले लोग बाहर निकलने लगे. बताया जा रहा है कि आग लगने से करीब 1 करोड़ का माल जलकर राख हो गया.

चिल्लाते लोगों को देख कांस्टेबलों ने संभाला मोर्चा

आग लगने के बाद बिल्डिंग के बाहर मौजूद कुछ लोगों ने चिल्लाकर बताया कि फ्लैट में कुछ परिवार फंसे हैं जिसके बाद मौके पर मौजूद कॉन्स्टेबल महेश चौधरी और अशोक कुमार ने तुरंत मोर्चा संभाला और पता चला कि बिल्डिंग के ऊपर एक फ्लैट में कुछ परिवार फंसे हुए हैं. कॉन्स्टेबल महेश और अशोक ने फ्लैट में फंसे लोगों को बचाने के लिए बिल्डिंग के पीछे एक सीढ़ी लगाई और उसकी मदद से दूसरी मंजिल तक पहुंचे.

फ्लैट पर पहुंचने के बाद दोनों गेट तोड़कर अंदर पहुंचे और धुंए से 2 युवक, 2 युवती और करीब 5 साल के बच्चे को ऊपर के फ्लैट की बालकनी तक पहुंचाया जहां से उन्हें छज्जे के सहारे-सहारे पकड़कर क्रेन की मदद से बाहर निकाला गया. वहीं ऊपरी मंजिल के एक फ्लैट में 80 साल की एक बुजुर्ग महिला भी फंसी हुई थी जिसे देखकर दोनों जैसे-तैसे उन्हें निकालकर बिल्डिंग के टॉप फ्लोर पर ले गए.

सीएम ने दिए प्रमोट करने के आदेश

वहीं आग लगने की सूचना मिलने के बाद सीएम गहलोत ने दोनों कॉन्स्टेबल के काम की सराहना करते हुए कहा कि जयपुर के विद्याधर नगर की बिल्डिंग में लगी आग में फंसे 6 लोगों को बचाने के लिए राजस्थान पुलिस के कॉन्स्टेबल महेश चौधरी और अशोक कुमार ने शानदार काम किया है. गहलोत ने ट्वीट कर लिखा कि अपने प्राणों की परवाह ना करते हुए अपने कर्तव्य की पालना में 6 लोगों को सकुशल निकालने के प्रशंसनीय कार्य के लिए दोनों को पदोन्नत कर हेड कॉन्स्टेबल बनाने के निर्देश डीजीपी को दिए हैं.

गौरतलब है कि आग लगने की सूचना मिलने के बाद विश्वकर्मा फायर स्टेशन से 6 और बनीपार्क, 22 गोदाम, बिंदायका व झोटवाड़ा से 1-1 दमकल की गाड़ियों को मौके पर बुलाया गया. वहीं आग की भयावहता देखकर स्थानीय पुलिस और सिविल डिफेंस की टीम भी मौके पर तुरंत पहुंच गई. आग पर 10 दमकलों की मदद से कई फेरे में पानी डालने के बाद काबू पाया गया.

आपकी राय

क्या मायावती का यूपी चुनावों में हार के लिए मुस्लिम वोटों को जिम्मेदार ठहराना सही है?

View Results

Loading ... Loading ...

Get in Touch

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Related Articles

Latest Posts