Wednesday, September 28, 2022

‘हमारे पास सभी क्षमताएं, भारत में नहीं चलेगी मेड इन चाइना टेस्ला,’ ट्विटर से डील के बाद से बोले नितिन गडकरी

टेस्ला और स्पेसएक्स के सीईओ एलन मस्क और सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म ट्विटर के बीच अधिग्रहण की डील लगभग फाइनल हो चुकी है.  मस्क की ओर से लगाई गई करीब 44 अरब डॉलर की अधिग्रहण बोली को ट्विटर के बोर्ड ने स्वीकार कर लिया है. इसके बाद वह इस सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म के बॉस बनने के बेहद करीब आ गए हैं. 

इस बीच एक कार्यक्रम में केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने एलन मस्क को ऑफर दिया है कि वे भारत में उत्पादन करें. गडकरी ने कहा कि अगर एलन मस्क भारत में उत्पादन करना चाहते हैं तो हमारे पास सभी क्षमताएं और टेक्नोलॉजी हैं. लेकिन अगर वह उत्पादन चीन में करेंगे और भारत में बेचेंगे तो यह अच्छा प्रस्ताव नहीं है. 

कार्यक्रम के दौरान गडकरी ने कहा, मैं उनसे अनुरोध करता हूं कि वो यहां उत्पादन शुरू करें. भारत एक बड़ा मार्केट है. यहां बंदरगाह भी हैं. वे भारत से एक्सपोर्ट कर सकते हैं. इस बीच गडकरी ने मेड इन चाइना टेस्ला के कॉन्सेप्ट की भारत में एंट्री की संभावनाओं को खारिज करते हुए कहा, उनका भारत में स्वागत है. लेकिन मान लीजिए कि वह चीन में उत्पादन करना चाहते हैं और भारत में बेचना चाहते हैं तो यह भारत के लिए ठीक नहीं है. हमारा अनुरोध है कि वे भारत आएं और यहां मैन्युफैक्चर करें.

असल में, दुनिया के सबसे रईस लोगों में से एक एलन मस्क की इलेक्ट्रिक कंपनी टेस्ला लंबे वक्त से भारतीय मार्केट में आने की राह देख रही है. वह भारत सरकार से टैक्स में छूट मांग कर रही है. लेकिन छूट की डिमांड कई बार खारिज हो चुकी है और कह चुकी है कि इसे पूरा नहीं किया जा सकता. मस्क की कंपनी टेस्ला भारत में अपनी गाड़ियां आयात करना चाहती है और उसे टैक्स में छूट चाहिए. जबकि भारत सरकार कहती रही है कि कंपनी इंपोर्ट करने की जगह स्थानीय स्तर पर गाड़ियां उत्पादन करे.

गौरतलब है कि मस्क ने 14 अप्रैल को ट्विटर को खरीदने की पेशकश की थी. मस्क ने कहा है कि वह ट्विटर को इसलिए खरीदना चाहते हैं, क्योंकि उन्हें नहीं लगता कि यह स्वतंत्र अभिव्यक्ति के मंच के रूप में अपनी क्षमता पर खरा उतर पा रहा है. ट्विटर के बोर्ड ने सोमवार को सर्वसम्मति से उनके प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है और शेयरधारकों से भी ऐसा करने की सिफारिश की है.

आपकी राय

क्या मायावती का यूपी चुनावों में हार के लिए मुस्लिम वोटों को जिम्मेदार ठहराना सही है?

View Results

Loading ... Loading ...

Get in Touch

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Related Articles

Latest Posts