Wednesday, September 28, 2022

UP Election Result : नीतीश के मंत्री के चलते हार गए योगी के मंत्री जी! वोटकटवा का खेल खेलकर रंग में किया भंग

लखनऊ/पटना: बिहार (Bihar News) के एक मंत्री अब बीजेपी के निशाने पर हैं। कई नेता तो उन्हें बिहार में गठबंधन (VIP Minister Mukesh Sahani) से बाहर का रास्ता दिखाने की बात कर रहे हैं। पहले तो ये नेता यूपी (UP Election 2022) में तेवर दिखाकर बीजेपी के खिलाफ ही खड़े हो गए, उस पार्टी के खिलाफ जिसने उन्हें अपने टिकट पर विधानपरिषद भेजा। वो भी तब जब मंत्री जी खुद ही NDA में शामिल होने के बाद 2020 का बिहार विधानसभा चुनाव हार गए थे, इसके बाद उन्हें बीजेपी ने मंत्री बना दिया। यूपी चुनाव से पहले लेकिन मंत्री जी अचानक मूड में आ गए कि वहां से तो वो लड़ेंगे भी और लड़ाएंगे भी, आखिर सन ऑफ मल्लाह जो ठहरे।

बिहार के मंत्री ने यूपी के मंत्री को हरवाया
आप बिल्कुल ठीक समझे, हम बात कर रहे हैं वीआईपी चीफ मुकेश सहनी की। लेकिन हुआ कुछ ऐसा कि यूपी चुनाव में भी सन ऑफ मल्लाह की नाव तो डूबी ही लेकिन जाते-जाते वो बीजेपी के मंत्री जी को साथ में डूबा ले गए। बिहार में बीजेपी के साथी मुकेश सहनी ने योगी के संसदीय कार्य मंत्री आनंद स्वरूप शुक्ला को ही हरवा दिया बैरिया सीट से टिकट कटने पर वहां के कद्दावर नेता सुरेंद्र सिंह बागी होकर VIP से लड़े और 16% वोट पाया। VIP ने ऐसे घोड़े पर दांव लगाया था जिसका नतीजा तय था, आखिर में बाजी अखिलेश के उम्मीदवार जय प्रकाश अंचल ने मारी।
Bihar BJP MLC Candidate List : सारण से सच्चिदानंद राय का कटा टिकट, पांच महीने से कर रहे थे चुनाव की तैयारी
जानिए कैसे मुकेश सहनी के उम्मीदवार ने काटे बीजेपी के वोट
इसे समझने के लिए आपको यूपी के बैरिया सीट का चुनावी नतीजा देखना होगा। बैरिया सीट पर समाजवादी पार्टी के उम्मीदवार जय प्रकाश अंचल ने 40.33 फीसदी वोट हासिल किए। नंबरों में ये 71,241 वोट होते हैं। अब बात बीजेपी उम्मीदवार और योगी सरकार के संसदीय कार्यमंत्री आनंद स्वरूप शुक्ला की। आनंद को कुल 33 फीसदी यानि 58,290 वोट मिले। यानि वो समाजवादी पार्टी के उम्मीदवार से 12,951 वोटों से चुनाव हार गए।

UP Result Effect : मंत्री मुकेश सहनी की कुर्सी पर खतरा, बिहार बीजेपी के विधायक ने की हटाने की मांग

ऐसे बिगाड़ा सहनी के उम्मीदवार ने योगी के मंत्री का खेल
अब समझिए मुकेश सहनी की भूमिका। VIP चीफ और बिहार सरकार में मंत्री मुकेश सहनी ने उस उम्मीदवार को टिकट दिया जिसका बीजेपी ने पत्ता साफ कर दिया था, यानि सुरेंद्र नाथ सिंह। इन्होंने 16.2 फीसदी यानि 28615 वोट हासिल किए। अगर इस वोट को बीजेपी उम्मीदवार और सीएम योगी आदित्यनाथ के मंत्री आनंद स्वरूप शुक्ला के 58290 वोट में जोड़ा जाए तो कुल वोट होते हैं 86,905। मान सकते हैं कि सहनी के उम्मीदवार ने और किसी के नहीं बल्कि बीजेपी के ही वोट काटे और खुद तो डूबे ही साथ में योगी के मंत्री को भी ले डूबे।

Source link

आपकी राय

क्या मायावती का यूपी चुनावों में हार के लिए मुस्लिम वोटों को जिम्मेदार ठहराना सही है?

View Results

Loading ... Loading ...

Get in Touch

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Related Articles

Latest Posts