Saturday, October 1, 2022

Viral Video: लाइटर से दूर मंडरा रही है लौ, वीडियो देख कर सभी रह गए हैरान

Trending Video: सोशल मीडिया एक ऐसा प्लेटफॉर्म है जहां विभिन्न प्रकार की कला और हुनर के साथ ही साथ अलग अलग ट्रिक्स भी देखने और समझने को मिल जाती है. इंटरनेट पर एक वायरल हो रहे वीडियो में दिखाया गया है कि एक लौ (Flame) लाइटर के ऊपर मंडराती हुई दिखाई देती है. लौ को देखकर ऐसा लगता है कि बीच में कुछ भी नहीं है.

दरअसल इस बात में एक तरह की ट्रिक मौजूद है. ये एक चाल है जिससे सामने वाला अचंभित हो जाता है. ट्विटर पर यूजर्स इस बात से हैरान हैं कि विज्ञान द्वारा सामान्य रूप से समझी जाने वाली दुनिया में ऐसी घटना कैसे संभव है.

प्रदर्शन करने वाला व्यक्ति एक कलम को अलग करता है और उसकी स्याही को लाइटर में उड़ा देता है. जब वे लाइटर को जलाते हैं, तो उसके ऊपर एक लौ मंडराती है और बीच में लगभग कुछ भी नहीं होता है. वीडियो ने इंटरनेट में यूजर्स को कन्फ्यूज कर दिया है. सभी वीडियो  को देखकर चकरा रहे हैं.

वीडियो को मिले चुके हैं लाखों व्यूज़
ट्विटर पर ये वीडियो मूलरूप से “Interesting Channel”  पर साझा किया गया है. इस चैनल पर दिखाए गए इस वीडियो को 1.5 लाख से अधिक बार देखा गया है. 

लोगों ने पूछे कई सवाल

लोगों ने ऑनलाइन कुछ दिलचस्प जवाब पूछे हैं. किसी ने लिखा कृपया कोई बताएं कि क्या हो रहा है. एक अनजान शख्स ने कमेंट करते हुए लिखा कि “अरे अब आप सामाजिक दूरी बनाए रखते हुए किसी को प्रकाश दे सकते हैं.”

क्या है वास्तविकता

इस बात से यूजर्स कन्फ्यूज हैं कि विज्ञान द्वारा सामान्य रूप से समझी जाने वाली दुनिया में ऐसी घटना कैसे संभव है. दरअसल, यह एक वास्तविक बात है और ऐसा संभव भी है. इसमें कोई झूठ नहीं है. जैसा की astrocamp.com नामक एक विज्ञान ब्लॉग द्वारा समझाया गया है, कुंजी ईंधन और स्याही को मिलाना है, जो आमतौर पर स्याही से ढके एक अनफोल्ड पेपर क्लिप का उपयोग करके लाइटर के अंदर नोजल को कवर करके संभव बनाया जाता है. एक बार मिश्रित होने पर, लौ लाइटर के ऊपर तैरती हुई प्रतीत होती है.

एस्ट्रोकैंप बताते हैं, “आम तौर पर, ब्यूटेन लाइटर ईंधन जलाए जाने पर नीली रोशनी छोड़ता है, लेकिन स्याही के अतिरिक्त उस ऊर्जा को स्पेक्ट्रम के पराबैंगनी हिस्से में छोड़ देता है. चूंकि हमारी आंखें यूवी प्रकाश (UV rays) नहीं देख सकती हैं, इसीलिए जलती हुई स्याही से लौ का हिस्सा अदृश्य दिखाई देता है, जिससे भ्रम पैदा होता है कि बाकी लौ तैर रही है.

आपकी राय

क्या मायावती का यूपी चुनावों में हार के लिए मुस्लिम वोटों को जिम्मेदार ठहराना सही है?

View Results

Loading ... Loading ...

Get in Touch

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Related Articles

Latest Posts